Top
Begin typing your search...

World Cup 2019 : अंपायर भी नही कर पाये सही धर्म का पालन, प्रशंसको ने किया ट्रोल

विश्व कप 2019 के फाइनल में मैदानी अंपायर के ऐसे फैसले आये कि खिलाड़ी को डीआरएस तक लेना पड़ा था।

World Cup 2019 : अंपायर भी नही कर पाये सही धर्म का पालन, प्रशंसको ने किया ट्रोल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लंदन। इंग्लैंड ने लॉर्डस के मैदान पर रोमांच की पराकाष्ठा पार कर गई और विश्व कप फाइनल में 14 जुलाई को यहां मैच और सुपर ओवर के 'टाई' छूटने के बाद न्यूजीलैंड पर 'बाउंड्री' के दम पर पार पाकर पहली बार विश्व चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया। मैच पहले टाई छूटा और फिर सुपर ओवर में भी दोनों टीमों ने समान रन बनाये। इसके बाद फैसला 'बाउंड्री' से किया गया। मेजबान इंग्लैंड अधिक 'बाउंड्री' लगायी थी और आखिर में 1975 से चला आ रहा उसका खिताब का इंतजार खत्म हो गया।

न्यूजीलैंड ने आठ विकेट पर 241 रन बनाये। इंग्लैंड के सामने 242 रन का लक्ष्य था। लेकिन इंग्लैंड की टीम 241 रन पर आउट हो गयी। सुपर ओवर में इंग्लैंड की तरफ से स्टोक्स और बटलर क्रीज पर उतरे और उन्होंने ट्रेंट बोल्ट पर एक एक चौके की मदद से 15 रन बनाये। इस तरह से न्यूजीलैंड को जीत के लिये 16 रन का लक्ष्य मिला। जोफ्रा आर्चर गेंदबाज थे। पहली गेंद वाइड थी, दूसरी गेंद पर दो रन बने और जेम्स नीशाम ने तीसरी गेंद छक्के के लिये भेज दी। अगली दो गेंदों पर दो . दो रन बने। पांचवीं गेंद पर एक रन लेकर नीशाम ने मार्टिन गुप्टिल को एक गेंद पर दो रन बनाने का मौका दिया। गुप्टिल एक रन बनाया और दूसरा रन लेने के प्रयास में रन आउट हो गये। आखिर में इंग्लैंड की टीम विजेता बन गई।

विश्व कप 2019 के फाइनल में मैदानी अंपायर के ऐसे फैसले आये कि खिलाड़ी को डीआरएस तक लेना पड़ा था। और मैदानी अंपायर से नाखुस नजर आये। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। दोनों ही टीमों ने इससे पहले विश्व कप नहीं जीता है। इंग्लैंड तीन बार फाइनल में पहुंचकर हार चुकी है वहीं न्यूजीलैंड को एक बार फाइनल में हार मिली है।

विश्व कप के फाइनल के लिए श्रीलंका के कुमार धर्मसेना और दक्षिण अफ्रीका के मराइस इरासमस को अंपायरिंग की जिम्मेदारी मिली है। दोनों ने इस मैच में खिलाड़ी और खेल प्रेमीयों को काफी निराश किया है। मैच के पहली पारी के तीसरे ओवर में ही धर्मसेना से गलती हुई। उन्होंने सलामी बल्लेबाज हेनरी निकोलस को एलबीडबल्यू आउट दिया लेकिन रिव्यू लेकर बन बच गये। और मैदानी अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा क्योंकि गेंद विकेट पर नहीं टकरा रही थी। कुछ ओवरों के बाद मार्टिन गप्टिल को सही एलबीडबल्यू दिया गया और उन्हें रिव्यू किया और इसे गंवा भी दिया।

23वें ओवर में कुमार धर्मसेना न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन को आउट नहीं दिया और इंग्लैंड के पास रिव्यू था और वो इस रिव्यू को लेने का फैसला किया और ये सही साबित भी हुआ गेंद उनके बल्ले से लगकर पवेलियन गयी थी और धर्मसेना को एक बार फिर अपना फैसला बदलना पड़ा। रॉस टेलर को मराइस इरासमस ने एलबीडबल्यू आउट दिया और न्यूजीलैंड के पास रिव्यू भी नहीं था। रीप्ले में दिख कि गेंद विकेट के ऊपर से जा रही रही।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it