Top
Begin typing your search...

भाजपा नेत्री पर अपने मुस्लिम पति को हिन्दू बताकर जालसाज़ी से फ्लैट कब्जाने का आरोप, पुलिस ने शुरू की जाँच

भाजपा नेत्री पर अपने मुस्लिम पति को हिन्दू बताकर जालसाज़ी से फ्लैट कब्जाने का आरोप, पुलिस ने शुरू की जाँच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अब किराये पर घर देना भी कोई आसान काम नही रहा..ताजा मामला कानपुर के कल्याणपुर थाना क्षेत्र के बगीचा रोड रावतपुर इलाके के अशोक वाटिका अपार्टमेन्ट का है जहां पर भाजपा नेत्री ने अपने मुस्लिम पति को हिन्दू बताकर धोखाधड़ी से झूठे कागज दिखा के किराये पर फ्लैट ले लिया और बाद में किराया देना तो दूर ,घर खाली करवाने के लिये बोलने पर जान से मारने की धमकी भी दे रहा है पीड़ित फ्लैट मालिक ने भाजपा नेत्री और उसके पति के खिलाफ जालसाज़ी, कूटरचित दस्तावेज बनाने, जान से मारने की धमकी देना और धार्मिक आस्था को ठेस पहुँचाने समेत गंभीर आरोप लगाते हुए डीसीपी वेस्ट से न्याय की गुहार लगाई है डीसीपी ने मामले की गंभीरता देखते हुए पूरे प्रकरण की जाँच एसीपी कल्याणपुर को सौंपते हुए कार्यवाही के निर्देश दिए है जिसके बाद पुलिस ने जाँच शुरू कर दी है।

कानपुर किदवईनगर के रहने वाले रौनक़ जैन ने बताया कि उनका कल्याणपुर स्थित अशोक वाटिका अपार्टमेन्ट में एक फ्लैट है जिसे उन्होंने बीजेपी महिला मोर्चा कन्नौज की महामंत्री बबीता सिंह और उसके पति विक्रम सिंह को किराए पर दिया था उन्होंने किरायेदारी एग्रीमेंट भी किया था। लेकिन कुछ समय से किराएदार पति-पत्नी ने किराया देने में आना-कानी करने लगा। जिसके बाद बीती 22 सितम्बर को रौनक और उसके बुजुर्ग पिता किराएदार से बकाया किराये और फ्लैट खाली कराने के सम्बंध में बात करने गए।

रौनक के अनुसार किराएदार को फ्लैट देते समय उसमे एक छोटा सा मंदिर लगा रखा था जो कि गायब था और उसकी जगह अन्य धर्म के ग्रंथ रखे थे रौनक का आरोप है कि किराएदार से मंदिर के विषय मे पूछने पर किराएदार ने उनसे और उनके बुजुर्ग पिता से गाली गलौज करते हुए धमकाया, जिसके बाद उन्होंने जानकारी जुटाई तो पता चला उनके साथ धोखाधड़ी हुई है। विक्रम सिंह का असली नाम विक्रम सिंह ना होकर मुस्सर्रत अली है और इसके पिता का नाम वीरेन्द्र सिंह ना होकर इशरत अली है और यह हमीरपुर जिले का निवासी ना होकर सुभाष नगर, थाना सौरिख कन्नौज का रहने वाला है और हिन्दू नाम से फर्जी आधार कार्ड बनाकर खुद मुस्लिम धर्म का होते हुए साजिशन फ्लैट को हड़पने की नियत से मुस्सर्रत अली उर्फ़ विक्रम सिंह व बबीता सिंह ने रेंट- एग्रीमेंट किया और फ्लैट के किराये का 82,400 रुपया हड़प लिया है वही भाजपा नेत्री बबीता सिंह ने अपने असली आधारकार्ड में छेड़छाड़ कर खुद को फ़्लैट का मालिक बताते हुए CUGL का कनेक्शन लिया और इसी तरह जालसाजी करके HDFC बैंक की सिविल लाइंस शाखा से 8 लाख का लोन लेकर हड़प कर गयी जिस पर बैंक ने बबीता सिंह के खिलाफ कोर्ट से मुकदमा भी दर्ज करवाया है।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it