Top
Begin typing your search...

बिजली की दरों में बढ़ोतरी को लेकर मायावती ने योगी सरकार को दी नसीहत

फिलहाल 500 यूनिट के लिए बिजली उपभोक्ताओं को 6.50 रुपए प्रति यूनिट देना पड़ता है,

बिजली की दरों में बढ़ोतरी को लेकर मायावती ने योगी सरकार को दी नसीहत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उत्तर प्रदेश। बसपा सुप्रीमो मायावती ने हमेशा से भाजपा पर किसी भी मुद्दे पर तंज कसने से परहेज नही करती है और आज फिर एक बार उत्तर प्रदेश बीजेपी सरकार द्वारा बिजली की दरों को बढ़ाने को मंजूरी पर तंज कसा है। और अपने ट्वीटर से ट्वीट करते हुए कहा है कि "उत्तर प्रदेश बीजेपी सरकार द्वारा बिजली की दरों को बढ़ाने को मंजूरी देना पूरी तरह से जनविरोधी फैसला है। इससे प्रदेश की करोड़ों खासकर मेहनतकश जनता पर महंगाई का और ज्यादा बोझ बढे़गा व उनका जीवन और भी अधिक त्रस्त व कष्टदायी होगा। सरकार इसपर तुरन्त पुनर्विचार करे तो यह बेहतर होगा"

बतादें कि योगी सरकार ने बिजली की दरों में बढ़ोतरी कर दी है. उत्तर प्रदेश में घरेलू बिजली की दरों में 8 से 12 फीसदी तक की बढ़ोतरी की गई है. वहीं औद्योगिक इलाकों में बिजली की दरों में 5 से 10 फीसदी इजाफा किया गया है। राज्य विद्युत नियामक आयोग ने नई दरों पर मंथन के बाद अंतिम फैसला लिया है. बिजली के नए टैरिफ में घरेलू, ग्रामीण, व्‍यावसायिक और इंडस्ट्री सभी तरह के उपभोक्ताओं की दरों में बढ़ोतरी की गई है. नई दरों से सबसे ज्यादा प्रभावित घरेलू उपभोक्ता हो रहे हैं. इससे पहले बिजली कंपनियों की तरफ से दिए गए प्रस्ताव में शहरी घरेलू उपभोक्ताओं की 0-150 यूनिट की स्लैब की बिजली दर 6.20 रुपए प्रति यूनिट करने का प्रस्ताव दिया गया था.

इसके अलावा, शहरी घरेलू उपभोक्ताओं जिनकी खपत 500 यूनिट से ज्यादा है उनकी बिजली 1 रुपए प्रति यूनिट बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया था. फिलहाल 500 यूनिट के लिए बिजली उपभोक्ताओं को 6.50 रुपए प्रति यूनिट देना पड़ता है, अब उपभोक्ताओं को बढ़ी दरों पर भुगतान करना होगा.

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it