Top
Begin typing your search...

मझलेपुर गांव के लोगो ने नही डाला वोट 917 में महज 1 मत पोल

गांव को न नगर पालिका में शामिल किया न गांव पंचायत में योजनाओ से महरूम है गांव

मझलेपुर गांव के लोगो ने नही डाला वोट 917 में महज 1 मत पोल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी

थाना जहाँगीराबाद इलाके के मझलेपुर गाँव के लोगो संगठित होकर मतदान का बहिस्कार किया परिणाम स्वरूप यहां 917 वोटरो में महज एक मत पोल हुआ। यहां के लोगो ने एक दिन पूर्व पंचायत करके बहिस्कार का फैसला ले लिया था। सुबह से ही गांव से निकले मार्ग किनारे सैकड़ो लोग इकठ्ठा हो गए । और विरोध प्रदर्शन करते हुए जमकर हंगामा शुरू कर दिया । एसिलसिला सुबह 7 बजे से 2 बजे दोपहर तक चला । इस दौरान उपजिलाधिकारी से लेकर कई अफसर लोगो को समझाने पहुचे लेकिन उपेक्षा से आक्रोश में डूबे लोग टस से मस नही हुए और जिलाधिकारी से वार्ता करने पर अड़े रहे।




क्यों हुआ मतदान का बहिस्कार

यहा के विरोध का नेतृत्व कर रहे गोपाल यादव शामे ग्रामीणों ने बताया कि हमारा गांव न तो नगर पालिका में दर्ज है न किसी पंचायत में । इससे हर तरह की योजनाओं से हम लोग वंचित है । साथ ही तमाम जरूरी लिखा पढ़ी प्रमाण पत्र आदि बनवाने के लिए हमारे पास न सभासद है न प्रधान । लावारिस हालात में प्रशासन हम लोगो को जीने पर मजबूर कर दिया।




डीएम ने 25 फरवरी को भेजा था पत्र

जिलाधिकारी उदयभानु त्रिपाठी ने 25 फरवरी को पत्र शंख्या 97 भेज कर विशेष सचिव को यहां की समस्याओं और नगर पालिका सीमा विस्तार में छूटे गांवो का जिक्र करते हुए पत्र लिखा था । लेकिन आजतक यहां की समस्या बनी हुई है। यही वजह है यहां का असल विरोध। यहां के लोगो का कहना है कि लोकतंत्र के इस महापर्व में भागीदारी न करना हमारे लिए दुखद है लेकिन साशन, प्रशासन की मनमानी आखिर कब तक बर्दास्त करे।

बीएल की मनमानी से वंचित रह गए मतदाता

त्रिलोकपुर

इलाके में ज्यादातर स्थानों पर ईवीएम मशीनों की खराबी के चलते घंटो मतदान बाधित रहा। जाहगीराबाद में एक पर 11 बजे शुरू हुआ। त्रिलोकपुर, सद्दीपुर समेत कई स्थानों पर ऐसी समस्याएं रही।


बड़े पैमाने पर वोटरों के नाम गायब

इलाके के बहादुरपुर चचेरुआ, त्रिलोकपुर कुरथरा बेरिया ऐसे गांव है जहां पुरे घर तो कहो पूरा मोहल्ला ही लिस्ट से साफ था । वही एक बीएलओ त्रिलोकपुर ने मतदान पर्ची घर पर ही रखे रहा इससे लोगो को भारी असुविधा का सामना करना पड़ा । चुनाव आयोग का मतदान बढ़ाने का प्रयास बीएलओ की मनमर्जी से अधूरा रह गया ।

Special Coverage News
Next Story
Share it