Top
Begin typing your search...

नागरिकता कानूनः जुमे पर अलर्ट, यूपी के 15 जिलों में इंटरनेट बंद, मौलाना ने की अपील सभी रखें एक दिन का रोजा

नागरिकता कानूनः जुमे पर अलर्ट, यूपी के 15 जिलों में इंटरनेट बंद, मौलाना ने की अपील सभी रखें एक दिन का रोजा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नागरिकता संशोधन कानून पर भड़की हिंसा के बाद यूपी के कई संवेदनशील जिलों में जुमे की नमाज को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट है। शाम को प्रदेश के 8 जिलों में इंटरनेट बैन की खबर आई लेकिन रात होते-होते यह संख्या लगातार बढ़ती चली गई। गाजियाबाद, मेरठ, कानपुर, अलीगढ़ समेत कई जिलों में अगले 24 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बैन किया गया है। सुरक्षा के मद्देनजर गाजियाबाद में शुक्रवार रात 10 बजे तक इंटरनेट पर बैन रहेगा। सहारनपुर में भी जुमे की नमाज को लेकर पुलिस प्रशासन एक बार फिर चौकसी बरत रहा है। इस बीच मुस्लिम धर्मगुरुओं ने जुमे की नमाज से पहले शांति की अपील की है।

इन जिलों में इंटरनेट पर बैन

अफवाहों पर लगाम लगाने के मद्देनजर राजधानी लखनऊ, गाजियाबाद, मेरठ, अलीगढ़, सहारनपुर, बुलंदशहर, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, शामली, संभल, फिरोजाबाद, मथुरा आगरा, कानपुर और सीतापुर में इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है। मेरठ और अलीगढ़ में गुरुवार रात 10 बजे से इंटरनेट बैन का आदेश दिया गया है। वहीं, वेस्ट यूपी के संवेदनशील मुजफ्फरनगर जिले में 28 दिसंबर तक इंटरनेट बंद रखा गया है।

कानपुर-सीतापुर में भी इंटरनेट पर प्रतिबंध

कानपुर में जिला प्रशासन ने गुरुवार रात 9 बजे से शुक्रवार रात 9 बजे तक मोबाइल इंटरनेट बंद रखने का आदेश दिया है। सीतापुर में अगले आदेश तक इंटरनेट पर बैन लगाया गया है। इस बीच पुलिस लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील कर रही है। इसके अलावा अधिकारी पुलिस फोर्स के साथ शहरों में फ्लैग मार्च निकाल रहे हैं।

सोशल मीडिया कॉन्टेंट की निगरानी: एडीजी

यूपी के एडीजी लॉ ऐंड ऑर्डर पीवी रमाशास्त्री का कहना है कि जुमे की नमाज को देखते हुए राज्य के अलग-अलग जिलों में सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद किया गया है। शांति व्यवस्था के लिए लोगों से बातचीत की गई है। इसके अलावा कई जिलों में इंटरनेट सेवाओं को प्रतिबंधित किया गया है। एडीजी का कहना है कि सोशल मीडिया पर पोस्ट हो रहे कॉन्टेंट की भी निगरानी की जा रही है।

एक दिन का रोजा रखें मुस्लिम: फरंगी महली

मुस्लिम धर्मगुरुओं ने शांति और सौहार्द्र की अपील की है। लखनऊ के मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने भी मुस्लिम समुदाय के लोगों से गुजारिश की है कि जुमे की नमाज के बाद किसी तरह का प्रदर्शन न करें। फरंगी महली ने समुदाय के लोगों से शांति और सौहार्द्र के लिए एक दिन का रोजा रखने की अपील की है। वहीं, देहरादून में पलटन बाजार की जामा मस्जिद के इमाम ने भी देश में अमन के लिए समुदाय के लोगों से एक दिन का रोजा रखने की अपील की है।

स्कूल-कॉलेज बंद

बाकी जिलों में शुक्रवार तक नेट बंद रखने के आदेश जिला प्रशासन की तरफ से दिए गए हैं। बिजनौर में गुरुवार को भी इंटरनेट सेवा बंद रखी गई। जानकारी के मुताबिक, यहां अगर कानून व्यवस्था की स्थिति सामान्य रहती है तो शुक्रवार की शाम इंटरनेट को चालू किया जा सकता है। नेट बंद होने के अलावा इन जिलों में कड़ाके की ठंड के चलते रविवार तक कक्षा बारह तक के स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं।

शांति की अपील

मेरठ में आईजी, कमिश्नर, डीएम और एसएसपी ने जिम्मेदार लोगों की मीटिंग की। उन्होंने लोगों से शांति बनाने की अपील की और सहयोग मांगा। दरअसल, 20 दिसंबर को जुमे की नमाज के बाद वेस्ट यूपी के कई जिलों में हिंसा हो गई थी, जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी। ऐसे में शुक्रवार को जुमे की नमाज इस बार कड़े पहरे में होगी। संवेदनशील स्थानों पर पुलिस फोर्स, पीएसपी, आरएएफ आदि सुरक्षाबलों की संख्या बढ़ा दी गई है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it