Top
Begin typing your search...

मेरठ कमिश्नर और आईजी ने ली नोएडा के अधिकारियों की मीटिंग, अयोध्या प्रकरण को लेकर तैयारियों का लिया जायजा

मेरठ कमिश्नर और आईजी ने ली नोएडा के अधिकारियों की मीटिंग, अयोध्या प्रकरण को लेकर तैयारियों का लिया जायजा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अयोध्या के संबंध में आने वाले सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के उपरांत जनपद में शांति व्यवस्था एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से मण्डलायुक्त मेरठ अनीता सी मेश्राम व आईजी आलोक सिंह आज कलैैक्ट्रेट सभागार में बैठक करते हुये कहा कि सर्वोच्च न्यायालय भारत की सर्वोच्च संस्था है। अतः उसके द्वारा जो निर्णय दिया जाएगा उसका सभी को अंतर्मन के साथ सम्मान करना चाहिए। उन्होंने निर्देश देते हुये कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय आने के उपरांत यदि किसी भी असामाजिक तत्व के द्वारा किसी भी माध्यम से सोशल मीडिया या अन्य किसी भी व्यवस्था के तहत जनपद का आपसी भाईचारा एवं सद्भाव बिगाड़ने का प्रयास किया जाएगा तो उसके लिए जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन सख्ती के साथ तत्काल प्रभाव से कार्यवाही सुनिश्चित करें।

उन्होंने बैठक करते हुये जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि जनपद मे संवेदनशील स्थानों, धार्मिक स्थलों व गउशालाआंे आदि की सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया जायें और समस्त उप जिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी पुलिस के द्वारा आपसी सांमजस्य स्थापित करते हुये कानून व्यवस्था व शांति व्यवस्था को बनायें रखने की कार्यवाही सुनिश्चित की जायें, ताकि अयोध्या के संबंध में आने वाले सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के उपरांत जनपद में शांति व्यवस्था एवं कानून व्यवस्था मानको अनुरूप बनी रहेें।

इस अवसर पर जिलाधिकारी बी एन सिंह व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने मण्डलायुक्त व आईजी को आश्वस्त करते हुये कहा कि इस महत्वपूर्ण मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर कड़ी नजर बनाकर रखी जा रही है और इस क्रम में एक व्यक्ति को जेल भी भेजने की कार्रवाई जनपद में सुनिश्चित की गई है। यदि किसी के भी द्वारा फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप या अन्य सोशल मीडिया के द्वारा जनपद का आपसी सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया जाएगा तो उसे तत्काल गंभीरता से लेकर जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन कार्यवाही सुनिश्चित करेगा तथा सभी संभ्रांत नागरिक व संगठनो के साथ पीस कमेटी की बैठक का आयोजन भी किया जा रहा है।

इस महत्वपूर्ण बैठक में एसपी सिटी विनीत जायसवाल, अपर जिलाधिकारी प्रशासन दिवाकर सिंह, एडीएम एल ए बलराम सिंह, एसपी ग्रामीण रणविजय सिंह, पुलिस अधीक्षक यातायात ए के झा, नगर मजिस्ट्रेट शैलेंद्र कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी गण व क्षेत्राधिकारी पुलिस तथा पुलिस व प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण द्वारा भाग लिया गया।

Special Coverage News
Next Story
Share it