Top
Begin typing your search...

जानें क्या है मामला! पिता ने बेटे के सामने रखी शर्त "मोहब्बत चाहिए या फिर जायदाद"

जानें क्या है मामला!  पिता ने बेटे के सामने रखी शर्त मोहब्बत चाहिए या फिर जायदाद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कहा जाता है कि प्यार अंधा होता है जब कोई लड़का और लड़की किसी से प्यार करने लगते है तो वो अपने प्यार में इतने अंधे हो जाते है कि उनको अपने प्यार के सिवाय कुछ नही दिखता है यहां तक की समाज, नाते-रिश्तेदारी क्या होता है उनको किसी भी तरह का इसका परवाह नही होता है ऐसे में एक महराजगंज जिले के नौतनवा में मामला समाने आया है। शादीशुदा प्रेमिका के लिए एक शादीशुदा युवक ने अपनी पत्नी और परिवार को छोड़ दिया।

मामला नौतनवा क्षेत्र के एक गांव का है। यहां शादीशुदा एक युवक गांव की की एक शादीशुदा महिला से प्रेम संबंध हो गया। महिला का पति विदेश कमाने गया है। इस दौरान दोनों ने साथ जीने-मरने की कसम खाई। यह खबर युवक के पिता के पास पहुंची तो उसको ये बात नगवार गुजरी पिता ने बेटे को बहू का हवाला दिया। परिवार बिखरने की दुहाई दी मगर उसने फैसला नहीं बदला। अंत में पिता ने बेटे के सामने शर्त रखी कि मोहब्बत चाहिए या फिर जायदाद।

प्रेमिका के साथ रहने का युवक का अंतिम निर्णय जान पिता ने उसे अपनी जायदाद से बेदखल कर दिया। युवक ने भी सहमति देते हुए कागज पर हस्ताक्षर कर दिए। उधर, पिता ने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए डीआईजी गोरखपुर रेंज, डीएम, एसपी, सीओ व एसओ नौतनवा को नोटरी ब्यान हल्फी के साथ शिकायती पत्र देकर पुत्र को चल-अचल संपत्ति से बेदखल की सूचना दी है। साथ ही परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाई है।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it