Top
Begin typing your search...
Home हेल्थ

हेल्थ

जानिए वो हकीकत:  क्यों कोरोना होने पर हार्ट अटैक से मर रहे हैं लोग?

जानिए वो हकीकत: क्यों कोरोना होने पर हार्ट अटैक से मर रहे हैं लोग?

कोरोना वायरस की दूसरी लहर आने के बाद अस्पतालों मरीजों के लिए पैर रखने की जगह नहीं बची है. हालांकि हेल्थ ऑथोरिटीज का कहना है कि 80 फीसद से ज्यादा मरीजो ...

हम भी उसी नाव पर सवार हैं, जिस पर आप हैं - डॉ प्रदीप कुमार शुक्ल

हम भी उसी नाव पर सवार हैं, जिस पर आप हैं - डॉ प्रदीप कुमार शुक्ल

एक छत के नीचे हम 12 लोग कोविड19 के शिकार हुए। कुछ लोग ज्यादा बीमार हुए, कुछ कम, पर अब लगभग सभी लोग रिकवरी मोड में हैं। लगभग इसलिए कि छोटा भाई अभी भी...

न रहे ऑक्सीजन सिलेंडर के भरोसे, जानें किन उपायों से बढ़ा सकते हैं शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा ?

न रहे ऑक्सीजन सिलेंडर के भरोसे, जानें किन उपायों से बढ़ा सकते हैं शरीर ...

कोरोना के नए वेरिएंट से जन्मी ऑक्सीजन की किल्लत से आप सभी वाकिफ हैं, इस वक़्त ऑक्सीजन की किल्लत से लेकर कालाबाजारी सब कुछ जोरों से चल रहा है। अगर आप...

रेमिडिसिवर इंजेक्शन ने बहुत पैनिक क्रिएट कर रखा है

रेमिडिसिवर इंजेक्शन ने बहुत पैनिक क्रिएट कर रखा है

रेमिडिसिवर की माँग से ट्विटर भरा हुआ है। जगह-जगह से इन्जेक्शन की कालाबाजारी की खबरें आ रही हैं। कई जगहों से खबर है कि कुछ लोग इनकी कमी को देखते हुए...

क्या दमा के मरीज़ों का बदला इम्म्युन एक्टिवेशन बनाता है कोविड को उनके लिए कम घातक?

क्या दमा के मरीज़ों का बदला इम्म्युन एक्टिवेशन बनाता है कोविड को उनके...

सस्टेनेबल सिटीज़ एंड सोसाइटी नाम के जर्नल में प्रकाशित इस शोध के नतीजों को मानें तो एलर्जिक राइनाइटिस और अस्थमा के रोगियों में पहले से बदला हुआ एक ऐसा...

क्या हम पॉज़िटिव स्टोरीज़ शेयर नहीं कर सकते? डॉ पश्यन्ति शुक्ला ने कही ये बड़ी बात और बोलीं

क्या हम पॉज़िटिव स्टोरीज़ शेयर नहीं कर सकते? डॉ पश्यन्ति शुक्ला ने कही ...

-क्या हम इस मुश्किल परिस्थिति में कम से कम अपने पोस्ट्स और ट्वीट्स के ज़रिए ही दूसरों की ज़िंदगी में एक पल के लिए ही सही पॉज़िटिविटी नहीं ला सकते?

Share it