Begin typing your search...

Chandra Grahan 2022: साल का आखिरी चंद्र ग्रहण कल, जानिए 12 राशियों पर प्रभाव, इन राशियों के लिए है अशुभ, न करें ये काम

कल कार्तिक पूर्णिमा पर साल 2022 का आखिरी चंद्र ग्रहण लगेगा। यह साल का दूसरा चंद्रग्रहण होगा।

Chandra Grahan 2022: साल का आखिरी चंद्र ग्रहण कल, जानिए 12 राशियों पर प्रभाव, इन राशियों के लिए है अशुभ, न करें ये काम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Chandra Grahan Lunar Eclipse 2022 Date And Sutak Kaal Time: कल कार्तिक पूर्णिमा पर साल 2022 का आखिरी चंद्र ग्रहण लगेगा। यह साल का दूसरा चंद्रग्रहण होगा। भारत में चंद्र ग्रहण दिखने के कारण इसका सूतककाल मान्य होगा। देश में सबसे पहले अरूणाचल प्रदेश में पूर्ण चंद्र ग्रहण देखने को मिलेगा। देश की पूर्वोत्तर राज्यों में पूर्ण चंद्र ग्रहण जबकि बाकी जगहों पर आंशिक चंद्र ग्रहण का नजारा देखने को मिलेगा। 08 नवंबर को शाम के समय जैसे ही चंद्रोदय होगा उसी समय चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई देगा। यह चंद्र ग्रहण शाम 6 बजकर 19 मिनट पर खत्म हो जाएगा।

08 नवंबर, मंगलवार को देश-दुनिया में साल 2022 का आखिरी ग्रहण देखने को मिलेगा। यह ग्रहण पूर्ण चंद्रग्रहण होगा। 15 दिनों के अंतराल पर यह दूसरा ग्रहण होगा इसके पहले बीते 25 अक्तूबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगा था। भारत में इस चंद्र ग्रहण को देखा जा सकेगा जिसके कारण ग्रहण का सूतक काल मान्य होगा। चंद्रग्रहण में सूतक काल ग्रहण के शुरू होने से 9 घंटे पहले लगेगा। भारत में पूर्वोत्तर राज्यों में पूर्ण चंद्र ग्रहण दिखेगा। भारत के अलावा 08 नवंबर को लगने वाला चंद्रग्रहण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, एशिया और पेसिफिक में दिखाई देगा।

यह चंद्र ग्रहण कार्तिक पूर्णिमा पर देव दीपावली की तिथि पर लगेगा आपको बता दें कि 25 अक्तूबर को लगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण भी दिवाली के अगले दिन पर कार्तिक अमावस्या तिथि पर लगा था। भारत में यह चंद्रग्रहण शाम होते ही दिखाई देने लगेगा।

भारत में कितने बजे शुरू होगा चंद्र ग्रहण ?

चंद्र ग्रहण की तिथि: 08 नवंबर, सोमवार 2022

चंद्रग्रहण का समय : शाम 04 बजकर 23 मिनट से 06 बजकर 19 मिनट तक

चंद्रोदय का समय- 08 नवंबर शाम 5 बजकर 28 मिनट पर

चंद्र ग्रहण में क्या न करें

चंद्र ग्रहण के दौरान कभी भी कोई शुभ काम या देवी-देवताओं की पूजा नहीं करनी चाहिए।

चंद्र ग्रहण के दौरान न ही भोजन पकाना चाहिए और न ही कुछ खाना-पीना चाहिए।

चंद्रग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं का ग्रहण नहीं देखना चाहिए और न ही घर से बाहर जाना चाहिए।

चंद्रग्रहण के दौरान तुलसी समेत अन्य पेड़-पौधों नहीं छूना चाहिए।

चंद्र ग्रहण में क्या करें

ग्रहण शुरू होने से पहले यानी सूतक काल प्रभावी होने पर पहले से ही खाने-पीने की चीजों में पहले से तोड़े गए तुलसी के पत्ते को डालकर रखना चाहिए।

ग्रहण के दौरान अपने इष्ट देवी-देवताओं के नाम का स्मरण करना चाहिए।

ग्रहण के दौरान इसके असर को कम करने के लिए चंद्रमा से जुड़े हुए मंत्रों का जाप करना चाहिए।

इन राशियों पर नहीं होगा प्रभाव -

मिथुन- आपके लिए यह चंद्र ग्रहण अच्छा रह सकता है। शुभ फल और करियर-कारोबार में अच्छा फायदा हो सकता है।

कर्क- कार्यों में सफलताएं प्राप्ति होंगी। मेहनत का अच्छा फल मिलेगा।

सिंह- आपको कोई शुभ समाचार मिल सकता है। नौकरी में अच्छे पद की प्राप्ति हो सकती है।

वृश्चिक- आपको धैर्य बनाएं रखना होगा नहीं तो यह ग्रहण आपको काफी नुकसान देने वाला हो सकता है। सावधानी बरतें।

कुंभ- इस राशि के जातकों को लाभ और सौभाग्य में वृद्धि के योग हैं।

इन राशियों पर होगा अशुभ प्रभाव -

मेष राशि: मेष राशि के स्वामी ग्रह मंगल देव है. इस चंद्र ग्रहण का इन जातकों पर अशुभ प्रभाव होगा. इनके अंदर कई प्रकार का अज्ञात भय रहेगा. आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं रहेगी.

वृष राशि : इस साल के आखिरी चंद्र ग्रहण के दुष्प्रभाव से इन जातकों के जीवन में अचानक से बड़े संकट आ सकते हैं और धन हानि हो सकती है.

कन्या राशि: चंद्र ग्रहण के अशुभ प्रभाव से इन्हें कष्ट हो सकता है. इनकी धन हानि भी हो सकती है.

तुला राशि : तुला राशि जिसके स्वामी ग्रह शुक्र देव हैं. इस चंद्र ग्रहण के अशुभ प्रभाव से इन्हें पारिवारिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में इन्हें धैर्य बनाकर रखना चाहिए.

धनु राशि : यह चंद्रग्रहण इन जातकों की चिंताओं को बढ़ाने वाला होगा और उन्हें भविष्य में अनचाही समस्याओं से जूझना पड़ सकता है.

मकर राशि : 8 नवंबर को लगने वाला यह चंद्र ग्रहण इन जातकों को कष्ट और कई प्रकार की पीड़ा दे सकता है. इन्हें चंद्र ग्रहण के दौरान घर से नहीं निकलना चाहिए.

मीन राशि : इस चंद्र ग्रहण से इन्हें धन हानि के साथ कोई अचानक सी बड़ी हानि हो सकती है.


Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it