Begin typing your search...

सूर्य ग्रहण से क्या गोवर्धन पूजा पर पडेगा असर जानिए ज्योतिष शास्त्र के अनुसार

सूर्य ग्रहण से क्या गोवर्धन पूजा पर पडेगा असर जानिए ज्योतिष शास्त्र के अनुसार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

सूर्य और चंद्र ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र में एक अहम घटना माना गया है। ग्रहण के दौरान सूतक काल लगने के कारण कुछ विशेष सावधानी बरतने की बात शास्त्रों में बताई गई है। साल का आखिरी सूर्यग्रहण दिवाली व गोवर्धन पूजा के बीच लगेगा। हिंदू धर्म में दिवाली का त्योहार प्रमुख त्योहारों में से एक माना गया है। ऐसे में दिवाली के बीच में सूर्यग्रहण का लगना लोगों के मन में कई प्रश्न खड़े कर रहा है। जानिए सूर्यग्रहण कब से कब तक लगेगा, सूतक काल का समय और सावधानियां-

साल का आखिरी सूर्य ग्रहण अक्टूबर में, जानें चंद्र ग्रहण कब लगेगा व दोनों ग्रहण से जुड़ी जरूरी बातें

सूर्यग्रहण 2022 की टाइमिंग-

दिवाली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा के दिन सूर्य ग्रहण लगेगा। इस साल गोवर्धन पूजा 25 अक्टूबर को है। सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर को शाम 04 बजकर 22 मिनट से आरंभ होगा, जो कि शाम 06 बजकर 25 मिनट पर समाप्त होगा। हालांकि जिन जगहों पर ग्रहण समाप्त होने से पहले ही सूर्य अस्त हो जाएगा वहां पर सूर्य ग्रहण भी समाप्त हो जाएगा।

सूतक काल कब रहेगा?

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, सूतक काल ग्रहण शुरू होने से 12 घंटे पहले आरंभ हो जाता है। ऐसे में दिवाली और गोवर्धन पूजा के बीच लगने वाले ग्रहण का सूतक काल 25 अक्टूबर की सुबह 04 बजकर 22 मिनट पर शुरू होगा।

Desk Editor
Next Story
Share it