Begin typing your search...

रक्षाबंधन: जानें 22 अगस्त को राखी बांधने के खास मुहूर्त

रक्षाबंधन: जानें 22 अगस्त को राखी बांधने के खास मुहूर्त
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

रक्षाबंधन का त्योहार 22 अगस्त, रविवार को मनाया जाएगा। हिन्दू पंचांग के अनुसार, राखी हर साल श्रावण माह की पूर्णिमा तिथि को बांधी जाती है। हिन्दू धर्म में इस त्योहार का विशेष महत्व होता है। रक्षाबंधन के दिन बहनें अपने भाई की कलाई में रक्षा सूत्र बांधती हैं। यह त्योहार भाई-बहन के अटूट रिश्ते और प्रेम का प्रतीक है।

धार्मिक मान्यता है कि यमराज की बहन यमुना ने उनकी कलाई में राखी बांधी थी जिसके बदले यमराज ने यमुना को अमरता का वरदान दिया था। पंचांग के अनुसार भद्रा काल का विचार किया जाता है। हालांकि इस दिन भद्राकाल नहीं है। भद्राकाल के अलावा राहु काल में भी राखी का विचार किया जाता है। आइए जानते हैं रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त,

22 अगस्त को राखी बांधने के खास मुहूर्त

-प्रातः 6:15 बजे से 7:51 तक सिंह (स्थिर लग्न)

-मध्यान्ह 12:00 बजे से 14:45 तक वृश्चिक (स्थिर लग्न)

-शाम 18:31 बजे से 19:59 बजे तक कुंभ ( स्थिर लग्न)।

इस साल रक्षाबंधन पर्व पर न तो भद्रा का साया है और ना ही कोई अशुभ योग। रविवार को धनिष्ठा नक्षत्र होने से मातंग योग बनता है। इसके साथ-साथ शोभन योग भी उस दिन शोभायमान है। मातंग योग का अर्थ होता है कुल वृद्धि योग और शोभायमान का तात्पर्य होता है भाइयों-बहनों के परस्पर प्रेम का कारक। इस दिन प्रातः 6:15 बजे तक भद्रा समाप्त हो जाएगी। उसके पश्चात शाम 4:30 बजे तक बहनें अपने भाइयों की कलाई में राखी बांध सकती हैं। चूंकि 4:30 से 6:00 तक राहुकाल रहता है, इसलिए यह अवधि श्रेष्ठ नहीं मानी जाती। इसके बाद शाम 6:00 बजे से और रात्रि 9:00 बजे तक राखी बांधी जा सकती है। राखी बांधने का मुहूर्त तो दिनभर है, लेकिन स्थिर लग्न में राखी बांधना और भी शुभ रहता है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it