Top
Begin typing your search...

गिरफ्तारी पर भड़के पप्पू यादव, बोले- 'नीतीश जी कोरोना पॉजिटिव कर मारना चाहते हैं'

पप्पू यादव ने कहा कि नीतीश जी...धैर्य की परीक्षा नहीं लें।

गिरफ्तारी पर भड़के पप्पू यादव, बोले- नीतीश जी कोरोना पॉजिटिव कर मारना चाहते हैं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पूर्व सांसद और जन अधिकारी पार्टी के मुखिया पप्पू यादव (Pappu Yadav) की गिरफ्तारी के बाद बिहार में सियासी घमासान तेज होता जा है। एक ओर JAP के कार्यकर्ता सड़क पर उतर गए हैं और सरकार के इस कदम पर कड़ा आक्रोश दिखा रहे हैं। दूसरी ओर पप्पू यादव ने ट्वीट करके मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। पप्पू यादव ने कहा कि नीतीश जी...धैर्य की परीक्षा नहीं लें। यही नहीं JAP नेता ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि अभी मेरा टेस्ट हुआ, कोरोना निगेटिव आया, आप पॉजिटिव कर मारना चाहते हैं।

पप्पू यादव ने बैक-टू-बैक दो ट्वीट किए, जिसमें उन्होंने अपने खिलाफ हुई कार्रवाई पर सवाल खड़े किए। जन अधिकार पार्टी के मुखिया ने लिखा, 'नीतीश जी, प्रणाम...धैर्य की परीक्षा न लें। अन्यथा जनता अपने हाथों में व्यवस्था लेगी, तो आपका प्रशासन सारा लॉकडाउन प्रोटोकॉल भूल जाएगा। मेरा एक माह पहले ऑपेरशन हुआ है। तब भी अपना जीवन दांव पर लगा जिंदगियां बचा रहे हैं। अभी मेरा टेस्ट हुआ, कोरोना निगेटिव आया। आप पॉजिटिव कर मारना चाहते हैं।'

बढ़ा सियासी पारा

प्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद बिहार का सियासी पारा अचानक बढ़ गया है. पप्पू यादव की गिरफ्तारी के विरोध में पक्ष और विपक्ष हर तरफ से सरकार पर हमला शुरू हो गया है.इस बीच खबर है कि पप्पू यादव को गांधी मैदान थाने से मधेपुरा जेल भेजा जा रहा है. मधेपुरा पुलिस गांधी मैदान थाना पहुंच गई है. पूर्व सांसद यादव की 32 साल पुराने मामले में गिरफ्तारी हुई है. कुमारखंड थाना क्षेत्र के 9 /89 मामले में जाप सुप्रीमो की गिरफ्तारी हुई है.

जानकारी के अनुसार, इस मामले में बेल टूटने के बाद 22 मार्च 2021 को वारंट जारी हुआ था. वारंट जारी होने के बाद से पप्पू यादव फरार चल रहे थे. इस गिरफ्तारी के खिलाफ नीतीश सरकार में मंत्री मुकेश साहनी व सत्ता पक्ष के नेता जीतन राम मांझी ने अपनी आवाज बुलंद की है. वहीं, पप्पू यादव की पत्नी व पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने ट्वीट कर सीएम नीतीश कुमार से पप्पू यादव की अविलंब रिहाई की मांग की है.

पप्पू यादव को मिली किसकी पोल खोलने की सजा?

पप्पू यादव ने तीन दिन पूर्व सांसद मद से खरीदे गए एंबुलेंस के बेकार पड़े होने को लेकर खुलासा किया था। उन्होंने खुद उस स्थल पर पहुंचकर एंबुलेंसों की तस्वीर ली थी। उन्होंने राजीव प्रताप रूडी पर इसके लिए वीडियो के साथ गंभीर आरोप लगाए थे। ठीक इसी के बाद इसके बाद बिना अनुमति के सामुदायिक भवन में अपने समर्थकों के साथ जाने और एंबुलेंस में तोड़फोड़ किए जाने के खिलाफ पप्पू यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। लेकिन पटना पुलिस ने गिरफ्तारी दूसरे यानि लॉकडाउन तोड़ने के मामले में की है।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it