Begin typing your search...

चौकीदार को धौंस दिखा उठक-बैठक कराने वाले कृषि पदाधिकारी को मिली सजा, हुए सस्पेंड,

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे भी इस मामले के बाद चौकीदार को फोन कर उनके साथ जो कुछ हुआ उसके लिए खुद माफी मांगी थी.

चौकीदार को धौंस दिखा उठक-बैठक कराने वाले कृषि पदाधिकारी को मिली सजा, हुए सस्पेंड,
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बिहार में चौकीदार से उठक-बैठक कराने वाले जिला कृषि अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया है. इस बात की जानकारी बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने दी. कृषि मंत्री ने जांच रिपोर्ट के आधार पर मनोज कुमार को निलंबित किया है.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि कोरोना के खिलाफ महायुद्ध में शामिल प्रत्येक योद्धा चाहे वह छोटे पद पर हो बड़े पद पर, उनका सम्मान हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है. सबका सम्मान हमारी नैतिक जिम्मेदारी भी है और हमारा धर्म भी. गलत व्यवहार करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा.



ये था मामला

अररिया में ड्यूटी पर तैनात इस चौकीदार ने जिला कृषि पदाधिकारी की गाड़ी को रोककर उनका पास मांगा था. बस इस बात से पदाधिकारी नाराज होकर आपे से बाहर हो गए और चौकीदार को गालियां देने लगे. पदाधिकारी ने चौकीदार से बदसलूकी करते हुए उस जेल भेजने और नौकरी से निकलवा देने की धमकी भी दी.

इसके बाद चौकीदार ने पदाधिकारी के सामने कान पकड़वाकर उठक-बैठक लगाए और पदाधिकारी के पैरों पर भी गिरे. ये सब करने के लिए न सिर्फ कृषि पदाधिकारी बल्कि एक पुलिस पदाधिकारी ने भी उन्हें मजबूर किया. हालांकि इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद मामला बिहार डीजीपी के संज्ञान में आया था.

डीजीपी मांग चुके माफी

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने भी इस मामले के बाद अररिया के चौकीदार को फोन कर उनके साथ जो कुछ हुआ उसके लिए खुद माफी मांगी थी. डीजीपी ने फोन पर उनसे कहा था कि आपके साथ जो कुछ भी हुआ उसके लिए मैं माफी मांगता हूं, उसके लिए मुझे बहुत अफसोस है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it