Top
Begin typing your search...

शराब के दुष्परिणाम को लेकर जागरूकता अभियान

शराब के दुष्परिणाम को लेकर जागरूकता अभियान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंगेर। मद्य निषेद्य अभियान जिले में व्यापक स्तर पर चलाया जा रहा है। इसे लेकर लगातार जिला प्रशासन कि विभिन्न एजेंसियाॅ अपने अपने स्तरों से सभी पंचायत, वार्ड एवं टोलों में रैलियाॅ एवं जुलूस निकाले जा रहे है।

आईसीडीएस द्वारा अपने अपने पोषण क्षेत्र में रंगौली, रैली एवं शपथ के माध्यम से लोगों को शराब के दुष्परिणाम से अवगत कराया गया। जीविका दीदी द्वारा भी विभिन्न ग्राम समूहों में रैली, शपथ, डोर टू डोर अभियान के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। हवेली खड़गपुर, तारापुर, संग्रामपुर के कलस्टर समूह में जीविका दीदी द्वारा रैली में शराबबंदी संबंधित स्लोगन गुजता रहे। शराब भगाओ, गाॅव समाज बचाओं! शराब छोड़ों घर को जोड़ों, दारू छोड़ों स्वस्थ रहो, नशामुक्ति शपथ आदि कार्यक्रम के माध्यम से मद्य निषेद्य अभियान चलाया जा रहा है। शिक्षा द्वारा भी आज कई विद्यालयों में शराबबंदी विषय पर चित्राकंन, निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। पूरे सूबे में शराब सेवन करना कानूनी अपराध है। इसे लेकर बिहार सरकार ने काफी सख्त नियम बनाये है। दंडात्मक वसूली और कारावास की कठोरतम कार्रवाई सुनिश्चित है।


जिला प्रशासन मुंगेर ने ठाना है दारू पीना बंद करवाना है। नशामुक्त मुंगेर के इस उद्देश्य के साथ जिला प्रशासन पूरी तरह से सक्रिय भूमिका में नजर आ रही है। दिनांक 26.11.2021 को मद्य निषेद्य दिवस के अवसर पर पूरे जिले स्तर पर कई कार्यक्रम किये जायेगे। सभी सरकारी कार्यालयों, थाना, महाविद्यालयों में शराबबंदी और मद्य निषेद्य का शपथ दिया जायेगा। लोग हस्ताक्षर अभियान के तहत शराबबंदी के समर्थन में हस्ताक्षर करेगे। शराबबंदी पर यह कार्यक्रम सभी प्रखंडों एवं पंचायतों में मनाया जायेगा। शपथ रैली के साथ लोगों को जागरूक किया जायेगा। शराब एक ऐसी सामाजिक कुरीति है जिसका कई दुष्परिणाम है। इससे एक ओर जहाॅ मानव समाज और व्यक्ति का पतन होता है।

वही दूसरी ओर इससे आर्थिक और स्वास्थ्य की हानि भी होती है। इसके सेवन से व्यक्ति की बुद्धि-विवेक विकृत हो जाती है और विकृत मानसिकता के साथ उन्हें अच्छे बुरे का ज्ञान नही रहता है। एक मुहिम चलाकर जिले के सभी लोगों को इसके दुष्परिणाम से जागरूक करने का निदेश दिया गया है ताकि आने वाली पीढ़ी और भविष्य खुशनुमा हो सके। इस अभियान में युवाओं की महती भूमिका है। जीविका दीदी, नेहरू युवा केन्द्र, स्काउट एण्ड गाईड, आईसीडीएस कर्मी, आशा सभी लोग अपने अपने क्षेत्राधीन घर घर जाकर लोगों को इसके दुष्परिणाम एवं शराबबंदी के अच्छे प्रभाव को बतायेगे। 26 नवम्बर को प्रातः 09ः00 बजे जीविका, शिक्षा, आईसीडीएस के द्वारा प्रभातफेरी निकाली जायेगी। पोलो ग्राउंड में शराबबंदी पर शपथ एवं परिचर्चा का आयोजन भी किया जायेगा।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it