Begin typing your search...

बैंकों को तत्परता और संवेदनशीलता के साथ काम करने की जरूरत: उपमुख्यमंत्री

बैंकों को तत्परता और संवेदनशीलता के साथ काम करने की जरूरत: उपमुख्यमंत्री
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कटिहार। आजादी के 75 वर्ष के अवसर पर अमृत महोत्सव के तहत सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के तत्वावधान में आयोजित क्रेडिट आउटरीच प्रोग्राम का उद्घाटन करते हुए बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में बैंकों की बड़ी भूमिका है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में देश के लोगों का जन-धन योजना के तहत बैंक खाता खोलना और डी.बी.टी. के माध्यम से लाभार्थियों के बैंक खाता में राशि का हस्तांतरण युगांतकारी शुरुआत है, जिसके अच्छे परिणाम मिले हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लाभार्थी को सीधे प्राप्त हो, बिचौलिया संस्कृति समाप्त हो। इसलिए इस दिशा में बैंकों को काफी तत्परता और संवेदनशीलता के साथ काम करने की जरूरत है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बैंक के प्रतिनिधियों को स्पष्ट तौर कहा है कि पंचायत स्तर पर पंचायत सरकार भवनों में बैंकों की शाखाएं खोली जाएं, ताकि लाभार्थियों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ एवं अन्य बैंकिंग सुविधाएं आसानी से प्राप्त हो सकें। इसके अलावा राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी की बैठक में बैंक के प्रतिनिधियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि बिहार की राशि बिहार के विकास में ही खर्च हों।

उन्होंने कहा कि चाहे कृषि का क्षेत्र हो अथवा उद्योग का क्षेत्र, बिजनेस सेक्टर हो अथवा अन्य क्षेत्र सभी बैंक निर्धारित लक्ष्यों को समय पर पूरा करें। बैंकों का दायित्व सिर्फ ऋण देने तक ही सीमित नहीं है बल्कि उन्हें लाभार्थियों का मार्गदर्शन भी करना है। कई बार ऐसा देखा जाता है कि ऋण लेने के बाद मार्गदर्शन और जानकारी के अभाव में लाभार्थी का बैंक खाता नॉन पेमेंट अकाउंट में चला जाता है, ऐसी स्थिति में मार्गदर्शन के अभाव में उनकी स्थिति खराब हो जाती है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास लोगों के जीवन स्तर में सुधार लाना है।

उन्होंने कहा कि कटिहार जिले में साख-जमा अनुपात और वार्षिक साख योजना की उपलब्धि राज्य औसत से अधिक है, परंतु इस दिशा में और मेहनत करने की जरूरत है। सभी बैंक प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना, अटल पेंशन योजना, जीवन ज्योति सुरक्षा बीमा योजना, रोजगार सृजन योजना, आवास ऋण योजना सहित अन्य विभिन्न योजनाओं के लक्ष्य के अनुरूप बेहतर कार्य करें। जीविका और शहरी आजीविका मिशन के तहत संचालित स्वयं सहायता समूहों के बैंक लिंकेज के कार्य को तत्परता से पूर्ण करें।

कार्यक्रम के दौरान कटिहार के जिलाधिकारी उदयन मिश्र, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय प्रबंधक गोपाल प्रसाद, बैंक ऑफ इंडिया के आंचलिक प्रबंधक राजेश कुमार, इंडियन बैंक के निखिल, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक मुकेश मधुकर, जीविका के जिला परियोजना प्रबंधक, सहित सभी बैंकों के जिला कोऑर्डिनेटर एवं प्रतिनिधिगण उपस्थित थे। उप मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान टाउन हॉल में लगे विभिन्न बैंकों के स्टॉलों का भी निरीक्षण किया।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it