Begin typing your search...

धान बिचौलियों के हाथ में न सौंपे- डीएम

धान बिचौलियों के हाथ में न सौंपे- डीएम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मुंगेर।धान अधिप्राप्ति की कार्रवाई जिले में किया जा रहा है। सभी किसानों के लिए यह काफी सुनहरा मौका है। सभी किसान भाई अच्छे कीमत पर प्राथमिक कृषि शाख समिति के माध्यम से धान का बिक्री करे। सरकार ने साधारण धान के लिए 1940 तथा उत्तम धान के लिए 1965 तथा बोरा का 25 अद्द निर्धारित किये है।

जिला पदाधिकारी श्री नवीन कुमार ने सभी किसान भाइयों/बहनों से अपील किया कि अपने धान को समिति के माध्यम से ही बेचे। मंडी में या किसी अन्य बिचौलियों के हाथ में न सौंपे। जिले में कुल 69 समितियों का चयन किया गया है। समिति के माध्यम से बेचे जाने पर धान की अच्छी कीमत किसानों को मिल जाती है। जिला पदाधिकारी ने कहा कि सभी पंचायतों में कार्यरत कृषि सलाहकार, समन्वयक एवं कार्यपालक सहायक को डोर टू डोर टैग किया गया है जो प्रत्येक घर में जाकर इच्छुक किसानों का उत्पादन आपूर्ति संबंधित डाटा लेकर अधिप्राप्ति हेतु निबंधन करवाने का कार्य करेगे।

धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य-साधारण धान 1940/- प्रति क्विंटल, ग्रेड-ए धान- 1960/- प्रति क्विंटल। धान अधिप्राप्ति की अवधि 15.11.2021 से 15.02.2022 तक। कृषि विभाग के पोर्टल पर निबंधित किसानों के माध्यम से धान अधिप्राप्ति कार्य। धान अधिप्राप्ति की सीमा-रैयत 250 क्विंटल, गैर-रैयत- 100 क्विंटल। किसानों से कृषि विभाग के निबंधन संख्या के आधार पर उनसे न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी पर धान अधिप्राप्ति करना। किसानों को धान के मूल्य का भुगतान 48 घंटे के अंदर पीएफएमएस के माध्यम से करना है। निबंधन के पश्चात किसान इच्छानुसार किसी भी चयनित पैक्स/व्यापार मंडल के माध्यम से अपने धान की बिक्री कर सकते है। धान की आपात बिक्री एवं बिचौलियों पर पूर्णतः नियंत्रण लगाना।

किसानों के कृषि विभाग के पोर्टल पर निबंधन एवं धान अधिप्राप्ति में कठिनाई होने पर प्रखंड में पदस्थापित सहकारिता प्रसार पदाधिकारी के कार्यालय/जिला सहकारिता पदाधिकारी के कार्यालय में जानकारी प्राप्त कर सकते है जिसके लिए जिला सहकारिता पदाधिकारी के कार्यालय में एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। जिसमें राजू बोदरा, स0प्र0पदा0, पवन कुमार साह, स0प्र0पदा0 एवं अवनी भूषण प्रखंड तकनीकी प्रबंधक को प्रतिनियुक्त किया गया है।

नियंत्रण कक्ष का नम्बर-06344-220147 है। अधिप्राप्ति संबंधी जानकारी/शिकायत के निराकरण हेतु विभाग के टोल फ्री नम्बर 18001800110 पर संपर्क किया जा सकता है। जिले में धान अधिप्राप्ति का लक्ष्य 50 हजार एमटी है। 69 समितियों का चयन किया जा चुका है। जिन्हें 02 लाॅट के बराबर सी0सी0 दी गयी है। अभी तक किसानों द्वारा कुल निबंधित किसानों की संख्या 9520 है तथा 35 किसानों से 250 एम0टी0 धान की क्रय की गयी है। कार्यपालक सहायकों के माध्यम से किसानों का निबंधन कराया जा रहा है तथा इच्छुक किसानों से क्रय हेतु तिथि निर्धारण के लिए प्रखंड सहकारिता प्रसार पदाधिकारी, किसान सलाहकार, कृषि समन्वयक, प्रखंड कृषि पदाधिकारी, कार्यपालक सहायक तथा कृषि विभाग के तकनीकी प्रबंधक को पंचायतवार प्रतिनियुक्त किया जा रहा है ताकि धान अधिप्राप्ति में आने वाली समस्याओं का समाधान किया जा सके।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it