Begin typing your search...

बिहार चुनाव में प्रत्याशी को गोलियों से भूनकर की हत्या, समर्थकों ने हत्यारे को उतारा मौत के घाट

प्रत्याशी के समर्थकों ने एक हत्यारे को मौके से दबोच लिया,​ जिसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई.

बिहार चुनाव में प्रत्याशी को गोलियों से भूनकर की हत्या, समर्थकों ने हत्यारे को उतारा मौत के घाट
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में खूनी खेल शुरू हो चुका है. बिहार के शिवहर में शनिवार को जनता दल राष्ट्रवादी के प्रत्याशी और उनके एक समर्थक की गोली मारकर हत्या कर दी गई. घटना उस वक्त की है, जब प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ चुनाव प्रचार में ​निकले हुए थे. वहीं प्रत्याशी के समर्थकों ने एक हत्यारे को मौके से दबोच लिया,​ जिसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई.

शिवहर विधानसभा से जनता दल राष्ट्रवादी के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह शनिवार को चुनाव प्रचार करने निकले थे. बताया जा रहा है कि वे पुरनहिया प्रखंड के हथसार गांव के पास जनसंपर्क में जुटे हुए थे, इसी दौरान बाइक सवार बदमाशों ने उन पर गोलियों की बौछार कर दी. अचानक हुई फायरिंग से भगदड़ मच गई. सीने में गोली लगने से श्रीनारायण सिंह मौके पर ही खून से लथपथ होकर गिर पड़े.

फायरिंग से भगदड़ मच गई

उधर फायरिंग करने के बाद मौके से भाग रहे बाइक सवारों पर भीड़ ने हमला कर दिया. इसमें से एक आरोपी को लोगों ने मौके पर ही पकड़ लिया. जिसकी पीट पीटकर हत्या कर दी गई. वहीं जनता दल राष्ट्रवादी के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह को उपचार के लिए शिवहर सदर अस्पताल लाया गया, जहां से चिकित्सकों ने उन्हें सीतामढ़ी रेफर कर दिया‌. रास्ते में उनकी मौत हो गई. श्रीनारायण सिंह की मौत की खबर से समर्थकों में आक्रोश फैला हुआ है.

पुरनहिया के थाना प्रभारी मुन्ना कुमार गुप्ता ने आईएएनएस को बताया कि नया गांव के रहने वाले प्रत्याशी सिंह शनिवार को हथसार गांव में प्रचार करने पहुंचे थे. उनके साथ 25 से 30 उनके समर्थक भी साथ थे. गांव में जनसंपर्क के दौरान एक बाइक पर सवार होकर आए अपराधियों ने प्रत्याशी पर अंधाधुंध गोलीबारी कर दी, जिससे वे बुरी तरह घायल हो गए.

थाना प्रभारी गुप्ता ने आगे बताया कि घटना को अंजाम देकर भाग रहे अपराधियों में से एक अपराधी को सिंह के कार्यकर्ताओं ने पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी, जिससे उसकी भी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. मृतक की अब तक पहचान नहीं हो पाई है.

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचकर पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी है. पुलिस अभी घटना के कारणों को लेकर कुछ भी बोलने से परहेज कर रही है. इधर, सूत्रों का कहना है कि मृतक पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. सूत्र इसे आपसी विवाद में हत्या बता रहे हैं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it