Top
Begin typing your search...

सीएम नीतीश बोले, जेपी और लोहिया के विचारों को पाठ्यक्रमों में शामिल किया जाय

सीएम नीतीश बोले, जेपी और लोहिया के विचारों को पाठ्यक्रमों में शामिल किया जाय
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कुमार कृष्णन

पटना।बिहार के कुलाधिपति सह राज्यपाल की अध्यक्षता में बिहार के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति की आवश्यक बैठक हुई। इस बैठक में विभिन्न पाठ्यक्रमों में हुए बदलाव के साथ विश्वविद्यालय प्रशासन से जुड़े अन्य मामलों पर भी चर्चा की गई। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बताया कि सरकार की पहल पर इस बैठक का आयोजन किया गया।

पिछले दिनों लोकनायक जयप्रकाश नारायण और डॉक्टर राम मनोहर लोहिया के विचारों को राजनीति विज्ञान के स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम से बाहर किए जाने पर सरकार ने आपत्ति जताई थी। इसी संदर्भ में शिक्षा मंत्री ने राज्यपाल को धन्यवाद देते हुए बताया कि इस उच्चस्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया कि जेपी और लोहिया के विचारों को पाठ्यक्रमों में फिर से शामिल किया जाएगा। साथ ही अन्य पाठ्यक्रमों को भी उपयोगी एवं प्रासंगिक बनाने हेतु नियमानुसार राज भवन एवं राज्य उच्चतर शिक्षा पर्षद की सहमति से विभिन्न विश्वविद्यालयों द्वारा लागू किया जाएगा।


इसके अलावा विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों द्वारा नैक ग्रेडिंग के लिए मुस्तैदी से समय प्रयास करने एवं प्रधानाचार्य की नियुक्ति आदि मामले पर भी सार्थक एवं निर्णायक चर्चा हुई। राज्यपाल ने इन मुद्दों पर समुचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। शिक्षा मंत्री ने इस बैठक के नतीजों को बिहार में उच्च शिक्षा में सुधार एवं प्रगति की जन भावना के अनुरूप बताया। साथ ही राज्यपाल फागू चौधरी के प्रति आभार जताया। इस बैठक में विभिन्न कुलपतियों के अलावा शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार एवं सचिव असंगवा चुवा आओ ने भी हिस्सा लिया।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it