Begin typing your search...

खड़गपुर झील के शेष कार्य को मार्च तक पूरा करें: मंत्री

जल संसाधन मंत्री ने की योजना की समीक्षा

खड़गपुर झील के शेष कार्य को मार्च तक पूरा करें: मंत्री
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कुमार कृष्णन

मुंगेर। राज्य के जल संसाधन सह सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के मंत्री संजय झा और भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी हवेली खड़गपुर पहुंचे। जहां मंत्री संजय झा और अशोक चौधरी ने खड़गपुर जिले स्थित आइबी पर निर्धारित कार्यक्रम में हिस्सा लिया। मंत्री संजय झा ने मुंगेर एवं बांका जिले में जल संसाधन विभाग द्वारा कार्यान्वित सिंचाई एवं बाढ़ सुरक्षात्मक योजनाओं की समीक्षा की और स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर खर्रा हरननगवय सिचाई योजना का पुनर्स्थापन, हवेली खड़गपुर में चेक डैम का निर्माण कार्य, खड़गपुर झील सिंचाई योजना का पुनर्स्थापन और छत्रहार काउजवे का पुनर्स्थापन आदि कार्यों के प्रगति के बारे में विस्तार से जानकारी ली।


उन्होंने हरननगवई सिंचाई योजना के पुनर्स्थापना कार्य के प्रगति की भी समीक्षा की। इसी योजना के अंतर्गत खर्रा हरननगवई नदी पर क्षतिग्रस्त बीयर के स्थान पर नए बियर का निर्माण कर बागेश्वरी पाइन सिंचाई प्रणाली एवं अन्य घटकों को पुनर्स्थापित करते हुए सिंचाई व्यवस्था बहाल करने के लिए तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि हवेली खड़गपुर प्रखंड में खरीफ के लिए 1377 हेक्टेयर एवं रब्बी के लिए 1300 हेक्टेयर मैं सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जा सकेगी। लगभग 75% इस योजना की प्रगति है। उन्होंने बताया कि जल संसाधन विभाग द्वारा प्रखंड के खैरा एवं महकोला गांव के निकट चेक डैम का निर्माण कराया जा रहा है।

इस योजना से खैरा कठना, पौकरी, मर्दनचक, फसियाबाद, तुलसीपुर, लोहरा, मुलुकटांड़, सितुहार, घोषपुर, महकोला, ताजपुर, कैथी, बरुई एवं राजारानी गांव के 2100 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी। साथी खेड़ा गांव में भूगर्भ जल रिचार्ज होगा और फ्लोराइड की मात्रा में कमी होगी। उन्होंने बताया कि यह योजना लगभग 70 प्रतिशत भौतिक रूप से पूर्ण है। मंत्री ने खड़गपुर झील सिंचाई योजना के प्रगति की समीक्षा करते हुए बताया कि इसके अंतर्गत हवेली खड़गपुर प्रखंड के 5310 हेक्टेयर कमांड क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जाती है।

खड़गपुर झील का डिसिल्टेशन तथा इसके मुख्य बांध से उत्तरी एवं दक्षिणी मुख्य नहर और उसकी वितरण प्रणाली के पुनर्स्थापन का कार्य चल रहा है। इस योजना से खड़गपुर झील की संचयन क्षमता में वृद्धि होगी और खैरा बहु ग्रामीण पाइप जलापूर्ति के लिए आवश्यक 226.30 हेक्टेयर मीटर पेयजलापूर्ति होने के साथ प्रखंड में 230 हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा का पुनर्स्थापन हो पाएगा। मंत्री श्री झा ने बताया कि खड़गपुर झील के शेष कार्य को मार्च तक पूरा करने का निर्देश विभागीय पदाधिकारियों को दिया गया है।

मंत्री श्री झा ने बताया कि सिंचाई संबंधित समस्याओं की जानकारी पिछली बार खड़गपुर आए भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी के द्वारा दी गई। जिसके बारे में चर्चा की गई थी और मुख्यमंत्री को भी जानकारी दी गई थी। योजना बनायी गयी कि खड़गपुर में तीन-चार विषयों पर कार्य किया जाना है। उन्होंने कहा कि निरीक्षण भवन का जीर्णोद्धार और झील से संबंधित कार्य जो चल रहा है उसकी समीक्षा की गई है। उन्होंने कहा कि सिंधुवारिणी सिंचाई की महत्वपूर्ण योजना है।

वन विभाग से जमीन चाहिए। इसको लेकर जिला पदाधिकारी समीक्षा करेंगे जिसमे चीफ इंजीनियर और डीएफओ भी रहेंगे। उन्होंने बताया कि खड़गपुर झील नैनीताल से बेहतर है यह काफी अद्भुत जगह है। बहुत कम जगह ऐसे मिलते हैं जहां पहाड़, जंगल और झील तीनों का समावेश एक साथ मिलता है। जल्द ही इसे संवारने की दिशा में काम शुरू किया जाएगा। भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि खड़गपुर झील के संदर्भ में मुख्यमंत्री नीतिश कुमार से कई बिंदुओं पर चर्चा की गई और उन्हें कई महत्वपूर्ण जानकारी दी गई हैं। वहीं उन्होंने आईटीआई भवन के कार्य में प्रगति लाने का निर्देश दिया और देवघरा को लेकर भी डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए।

इस मौके पर जिला अधिकारी नवीन कुमार, अभियंता प्रमुख अशोक कुमार चौधरी, मुख्य अभियंता अनिल कुमार, अधीक्षण अभियंता ओमप्रकाश, कार्यपालक अभियंता रामजी चौधरी, सहायक अभियंता अशोक प्रसाद, कनीय अभियंता पंकज कुमार कपिल देव कुमार, एसडीओ अमिताभ गुप्ता, तारापुर डीएसपी पंकज कुमार सिन्हा, बीडीओ उपेंद्र दास, एमएलसी संजय प्रसाद, विजय सिंह, निरंजन मिश्रा, राजीव कुमार सिंह, नरेश बिंद, सुजीत कुमार मुन्ना, रेखा सिंह चौहान, मनोज कुमार रघु, पंकज मिश्रा, मनोज हिमांशु, निर्मल सिंह कुशवाहा, रोहित चौधरी, डॉ अशोक कुमार सिंह आदि समेत अनेक जदयू कार्यकर्ता मौजूद थे

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it