Begin typing your search...

कार्य संस्कृति विकसित करने के लिए डीएम ने की समन्वय की बैठक और दिए आवश्यक निर्देश

कार्य संस्कृति विकसित करने के लिए डीएम ने की समन्वय की बैठक और दिए आवश्यक निर्देश
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बक्सर। समाहरणालय सभाकक्ष में कार्य संस्कृति एवं समन्वय की बैठक हुई। जिसमें फसल अवशेष प्रबंधन, एसडीजी से संबंधित मामले, मुख्यमंत्री जनता दरबार में दायर शिकायत से संबंधित मामलों के त्वरित निष्पादन हेतु विमर्श किया गया।

बैठक की अध्यक्षता कर रहे जिला पदाधिकारी अमन समीर ने एमजेसी, सीडब्ल्यूजेसी, एससी/एसटी आयोग, मानवाधिकार आयोग एवं लोक शिकायत से संबंधित मामलों का विभागवार विस्तार से समीक्षा की और संबंधित पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। सामान्य शाखा, स्थापना शाखा व सेवांत लाभ से संबंधित मामलों के शीघ्र निष्पादन की हिदायत दिए गए। प्रभारी मंत्री के निर्देशों के अनुपालन को विशेष तवज्जो देने के आदेश के साथ ही ग्रामीण कार्य विभाग, डुमराव के कार्यपालक अभियंता को चक्की की सभी सड़कों की स्थिति की रिपोर्ट तलब किए गए।

इस क्रम में डीएम ने जिला कृषि पदाधिकारी को किसान चौपाल कराने की जिम्मेवारी सौंपा तथा फसल अवशेष प्रबंधन से संबंधित विभागों के कार्य एवं दायित्व को बताया। उन्होंने कहा कि एएनएम व आशा कार्यकर्ता के माध्यम से फसल अवशेषों को जलाने के कारण मनुष्य के स्वास्थ संबंधी होने वाली बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए। एसडीजी के 17 लक्ष्य के बारे में विस्तार से अवगत कराते हुए जिला पदाधिकारी ने संबंधित विभागों को डिस्ट्रिक्ट इंडिकेटर फ्रेम वर्क बनाने हेतु जरूरी कदम उठाने को फरमान दिया। बैठक में सभी विभागों के प्रमुख अधिकारी मौजूद थे।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it