Begin typing your search...

डीएम ने कस्तूरबा वाटर वर्क्स का किया निरीक्षण

अप्रैल 2022 तक घर -घर जल के लिए करना होगा इंतजार

डीएम ने कस्तूरबा वाटर वर्क्स का किया निरीक्षण
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कुमार कृष्णन

मुंगेर। मुंगेर में घर-घर जलापूर्ति सुनिश्चित करने की दिशा में जिला पदाधिकारी द्वारा लगातार बैठक एवं निरीक्षण कर तेजी से कार्य करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है। विभागीय सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण द्वारा भी जिले में जलापूर्ति योजना के संबंध में आवश्यक निदेश दिया गया है। इसी निदेश के आलोक में जिला पदाधिकारी नवीन कुमार आज कस्तूरबा वाटर वर्क्स एवं इसके क्षेत्राधीन चल रहे कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करने पहुॅचे।

पूर्व से संस्थापित योजना एवं बुडको द्वारा निर्माणाधीन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, यूजीआर, पम्प हाउस, सम्प हाउस आदि कार्यों का निरीक्षण किया गया। क्लोरिनेशन शेड, मोटर तथा सम्प हाउस की खराब हो चुके पार्ट को बदलने का निदेश पीएचईडी को दिया गया। सम्प हाउस के उपर क्रैकिंग की मरम्मति करने का निदेश दिया। वाटर ट्रीटमेंट प्लांट और टंकी लिकेज को भी ठीक करने को कहा गया। पम्प हाउस में चैनपुली तथा अन्य तकनीकी खराबियों को अविलंब दूर करने का निदेश दिया गया। गौरतलब है कि जिंदल द्वारा बनाये गये यह जलापूर्ति योजना द्वारा और अनियमित रूप में पानी लोगों को मिल पाता है। सुचारू ढंग से कार्यरत नहीं रहने के कारण नगर निगम द्वारा हैंडओवर लेने की प्रक्रिया नहीं हो पायी है।

जिंदल द्वारा पाइप बिछाया गया है पर हाउस टू हाउस कनेक्शन नहीं किया गया है। बुडको द्वारा हाउस टू हाउस कनेक्शन किया जा रहा है। साथ ही यूजीआर वाटर टंकी, डब्लूटीपी भी बनाया जा रहा है। जिला पदाधिकारी ने सारी निर्माणाधीन कार्यों को भी देखा। उन्होंने बुडको को स्पष्ट निदेश दिया कि गुणवत्तापूर्ण जलापूर्ति योजना को सुनिश्चित करे। जिला पदाधिकारी द्वारा जिंदल द्वारा पूर्व में बनाये गये स्टैंड पोस्ट (पियाउ) स्थल को भी देखा तथा लोगों से जलापूर्ति के संबंध बातचीत की। उन्होंने कहा कि आवश्यकतानुसार जहाँ जरूरत हो वहां स्टैंड पोस्ट कार्यान्वित करे। बुडको अभियंता द्वारा बताया गया कि प्रतिदिन 1200 मीटर पाइप बिछाने का कार्य चल रहा है।

जिला पदाधिकारी ने तेजी से कार्य करने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि कार्य संतोषजनक है और अगले वर्ष अप्रैल माह तक शहर के न्यूनतम 30 वार्ड तथा अगस्त तक सभी 45 वार्ड में जलापूर्ति बहाल कर दी जायेगी। उन्होंने गुणवत्तापूर्ण कार्य करने के संबंध में सख्त निदेश दिया। स्वयं निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाईप लेईंग की गहराई को भी देखा। मौके पर मेयर रूमा राज, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी, बुडको अभियंता, नगर निगम के पदाधिकारी तथा बुडको एजेंसी प्रतिनिधि उपस्थित थे।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it