Begin typing your search...

BJP कोटे के मंत्री ने किया अधिकारियों का तबादला, CM नीतीश कुमार ने लगा दी रोक, मंत्री जी खफा, कहा- 'अब नहीं लगाऊंगा जनता दरबार'

मंत्री जी ने ये भी धमकी दी है कि वो अब जनता दरबार नहीं करेंगे क्योंकि उनकी बात नहीं सुनी गई.

BJP कोटे के मंत्री ने किया अधिकारियों का तबादला, CM नीतीश कुमार ने लगा दी रोक, मंत्री जी खफा, कहा- अब नहीं लगाऊंगा जनता दरबार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पटना: बिहार में तबादलों में भ्रष्टाचार आम बात है. लेकिन इस बार राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद इस पर लगाम कसने का मूड बना लिया है. इसी क्रम में उन्होंने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग में डेढ़ सौ अंचलाधिकारियों और तीन सौ से अधिक अन्य अधिकारियों के तबादले पर व्यापक शिकायत मिलने के बाद रोक लगा दी.

इधर, इस पूरे मामले पर विभाग के मंत्री रामसूरत राय का कहना है कि उन्होंने 70 से अधिक विधायकों की अनुशंसा पर अधिकारियों को इधर से उधर किया. लेकिन उनके विभाग पर माफिया का कब्जा है. राय ने ये भी धमकी दी है कि वो अब जनता दरबार नहीं करेंगे क्योंकि उनकी बात नहीं सुनी गई.

मंत्री ने अपने बयान में कहा, " ये मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है वो किसी भी विभाग की समीक्षा कर सकते हैं. उन्हें सूचना मिली होगी कि अधिक लोगों का तबादला कम समय में हो गया है. ये बात सही भी है कि कम समय वाले लोगों का तबादला हुआ है. लेकिन तबादले का कारण होता है. हमारे सभी जिले के डीएम किसी सीओ के खिलाफ परिपत्र देते हैं. फिर उस सीओ का तबादला होता है. कुछ का पारिवारिक कारण से तबादला होता है. वहीं कुछ का विधायकों की पैरवी से भी तबदला होता है."

राय ने कहा कि हमारे NDA के विधायकों की भी अनुशंसा पर तबादले किए गए थे. समीक्षा के बाद दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. विभाग में भू-माफिया हावी है. मैंने भू माफिया की कमर तोड़ने का काम किया है. उन्होंने कहा कि मैंने अब फैसला किया है कि भविष्य में हम जनता दरबार नहीं लगाएंगे. अब जनता को जहां जाना है, जाए.

मंत्री ने कहा, " कोई दिक्कत की बात नहीं है. विभाग में परेशानी होते रहती है. एक साथ सबका मन पूरा नहीं हो सकता है. हमारे विभाग में हमें भूमाफिया से निपटना पड़ता है. उनकी हमने कमर तोड़ने का काम किया है. तो ये लोग जो परेशान हो रहे हैं, तो ये भी अपनी बातें सिंडिकेट बनाकर कहीं ना कहीं से रखवाने का काम करते हैं. समय के साथ सारी बातें सामने आ जाएंगी."

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it