Begin typing your search...

भागलपुर का कुख्यात तनवीर नागपुर में पुलिस के हत्थे चढ़ा

वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उसने सोशल मीडिया पर भागलपुर वरीय पुलिस अधीक्षक को गिरफ्तार करने की चुनौती देते हुए पोस्ट किया

भागलपुर का कुख्यात तनवीर नागपुर में पुलिस के हत्थे चढ़ा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भागलपुर : सालों से फरार चल रहे और सोशल मीडिया पर भागलपुर पुलिस को चुनौती देनेवाले कुख्यात अपराधी तनवीर आलम को पुलिस ने नागपुर में धर दवोचा। वह विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के असानंदपुर का रहने वाला है। कोतवाली थाना क्षेत्र के सूजागंज में सात जनवरी 2017 को दुकान पर बम फेंकने के आरोपी है।

बमबाजी की घटना के बाद से वह फरार था और पुलिस को उसकी लंबे अरसे से तलाश थी।

वरीय पुलिस अधीक्षक निताशा गुड़िया ने गिरफ्तारी की जानकारी दी। सालों से फरार चल रहे कुख्यात अपराधी तनवीर आलम ने सोशल मीडिया पर भागलपुर पुलिस को चुनौती दी थी।

वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उसने सोशल मीडिया पर भागलपुर वरीय पुलिस अधीक्षक को गिरफ्तार करने की चुनौती देते हुए पोस्ट किया था। उसके बाद से ही पुलिस उसकी तलाश में सक्रिय हो गयी थी। उसकी लोकेशन नागपुर की आई। इसके बाद भागलपुर पुलिस ने नागपुर पुलिस से संपर्क किया।

वरीय पुलिस अधीक्षक नताशा गुड़िया ने बताया कि नगर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में पुलिस की टीम बनाई गयी थी, जिसमें एएसपी सिटी शुभम आर्य, कोतवाली थाना में अवर निरीक्षक देवानंद पासवान व विवि थाना के सहायक अवर निरीक्षक अमोद कुमार शामिल थे। इसी टीम ने नागपुर से तनवीर को गिरफ्तार किया।

कुख्यात तनवीर आलम कई आपराधिक घटनाओं में शामिल रहा है। 2015 में उसने पत्रकारों को रोककर उनसे लूटपाट की थी। विरोध पर फायरिंग भी की थी। उस घटना के बाद पत्रकारों ने ही उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। उसपर आर्म्स एक्ट, लूट, रंगदारी और डकैती का केस दर्ज है। भागलपुर रेल थाना में उसपर डकैती का केस दर्ज है। 2016 में दर्ज उस कांड में रेल पुलिस द्वारा उस कुख्यात को रिमांड पर लेने की बात उन्होंने कही।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it