Begin typing your search...

यह संयोग है या फिर प्रयोग है: लालूप्रसाद और नीतीश कुमार की नजदीकी की सुगुबुगाहट और सीबीआई की छापेमारी

यह संयोग है या फिर प्रयोग है: लालूप्रसाद और नीतीश कुमार की नजदीकी की सुगुबुगाहट और सीबीआई की छापेमारी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

यह संयोग है या फिर प्रयोग है लालू प्रसाद के यहाँ 2017 छापेमारी हुई महागठबंधन टूट गया ,2022 के मई में नीतीश प्रसाद के लालू के साथ आने की खबर आयी वैसे ही 15 वर्ष पहले के मामले में फिर छापामारी हुई।

विधानसभा के शताब्दी समारोह के समापन समारोह में जिस तरह से नीतीश को अपमानित किया था उसी दिन से जदयू नाराज है ,रविवार को जद यू के विधायक की बैठक में पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व ने विधायकों से किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार रहने को कहा और तीन दिन भी नहीं हुआ है और आज सुबह से ही लालू प्रसाद के करीबी भोला यादव के ठिकाने पर सुबह से ही सीबीआई की छापेमारी रेलवे बहाली मामले में चल रही है।भोला यादव को सीबीआई ने दिल्ली में गिरप्तार किया। आज 2 बजे दिल्ली के रोज एवेन्यू कोर्ट में पेशी है।

बिहार में आजकल सरकार को लेकर बड़ी बहस चल रही है। उसको लेकर पिछले कई माह से बिहार के मुख्यमंत्री का तेजस्वी यादव और लालूप्रसाद यादव के प्रति नरमी देखकर कयास लगाए जा रहे है। लेकिन नीतीश कुमार जब भी नाराज होते है बिहार सरकार मोदी सरकार से कुछ बड़ी बात मनबा लेती है। इस बार भी नाराजगी ज्यादा नजर आ रही है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it