Top
Begin typing your search...

अब जमानत के बाद भी लालू की रिहाई में हो सकती है देरी!

अब जमानत के बाद भी लालू की रिहाई में हो सकती है देरी!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

चारा घोटाले से जुड़े दुमका ट्रेजरी मामले में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को जमानत भले ही मिल गई हो, लेकिन कोर्ट से बाहर आने में उन्हें अभी एक हफ्ते का इंतजार करना पड़ सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि कोरोना संक्रमण की वजह से वकीलों ने 25 अप्रैल तक कोर्ट से दूरी बना ली है.

दुमका ट्रेजरी से 3.13 करोड़ रुपए की अवैध निकासी के मामले में सजा काट रहे लालू को 17 अप्रैल को ही झारखंड हाईकोर्ट से जमानत मिली है. हाईकोर्ट से उन्हें सशर्त जमानत मिली है. जस्टिस अप्रेश सिंह ने उन्हें जमानत देते हुए कहा था कि लालू को एक-एक लाख रुपए के दो सिक्योरिटी बॉन्ड और आईपीसी और पीसी एक्ट के तहत 5-5 लाख रुपए का जुर्माना भरना होगा. उसके बाद ही लालू रिहा हो पाएंगे.

लालू के वकील देवर्षि मंडल ने बताया कि जमानत की सारी शर्तें पूरी होने के बाद सीबीआई कोर्ट लालू की रिहाई के लिए रिलीज ऑर्डर जारी करेगा. ये ऑर्डर जेल आईजी बीरेंद्र भूषण की तरफ से दिल्ली एम्स में भेजा जाएगा, जहां लालू का इलाज चल रहा है. उसके बाद ही लालू के जेल से बाहर आने का रास्ता साफ होगा.

लेकिन, परेशानी ये है कि कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ने के बाद वकीलों ने कोर्ट से दूरी बनाने का फैसला लिया है. वकील 25 अप्रैल तक ना ही कोर्ट जाएंगे और ना ही वर्चुअली शामिल होंगे. इससे लालू की परेशानी बढ़ गई है. क्योंकि जमानत से जुड़ी सारी शर्तें तभी पूरी हो सकेंगी, जब कोर्ट में काम होगा. लेकिन कोरोना की वजह से वकील घर पर ही हैं और कोर्ट में भी काम बंद पड़ा है.

हालांकि, जमानत मिलने के बाद भी लालू घर नहीं आएंगे. क्योंकि उनकी तबीयत बहुत ज्यादा खराब है और दिल्ली एम्स में उनका इलाज चल रहा है. लालू के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने बताया था कि उन्हें दिल और किडनी की बीमारी है. उन्हें सांस लेने में भी तकलीफ होती है. ऐसे में लालू का इलाज एम्स में आगे भी चलता ही रहेगा.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it