Begin typing your search...

शराब के नशे में लड़की के साथ डांस करना थानाध्यक्ष को पड़ा भारी, किए गए निलंबित

थानाध्यक्ष की शर्मनाक करतूत का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया, एसपी लिपि सिंह ने सदर थानाध्यक्ष जयशंकर प्रसाद को निलंबित करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है।

शराब के नशे में लड़की के साथ डांस करना थानाध्यक्ष को पड़ा भारी, किए गए निलंबित
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बिहार के सहरसा जिले में शराब के नशे में धुत होकर लड़की के साथ डांस करना थानाध्यक्ष को भारी पड़ गया। इस थानाध्यक्ष की शर्मनाक करतूत का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया। जिसके बाद एसपी लिपि सिंह ने सदर थानाध्यक्ष जयशंकर प्रसाद को निलंबित करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है।

बता दें कि आज मंगलवार को एसपी लिपि सिंह ने बताया कि निवर्तमान सदर थानाध्यक्ष जयशंकर प्रसाद को कर्तव्यहीनता और अनुशासन हीनता के आरोप में निलंबित करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है। अभी जांच चल रही है, जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएगा उस आधार पर आगे और भी कार्रवाई की जा सकती है। उन्होंने बताया कि सोमवार को वीडियो और कुछ तस्वीरें सामने आयी थी। जिसके बाद सदर एसडीपीओ संतोष कुमार से जांच करवायी गई। प्रथम दृश्टया अनुशासन हीनता और कर्तव्य हीनता का मानते हुए कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया कि बिहार में शराबबंदी कानून लागू है। पुलिस विभाग के ऊपर शराबबंदी कानून लागू कराने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। हर साल शराब न पीने और पिलाने की शपथ लेते हैं। सहरसा जिले में ऐसा पहली बार हुआ है कि जब किसी थानाध्यक्ष को शराब पीने और लड़कियों के डांस करने के आरोप में निलंबित किया गया है।

वहीं सोमवार की दोपहर निवर्तमान थानाध्यक्ष जयशंकर प्रसाद की कई तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया वायरल हो रही थी। जिसके निवर्तमान थानाध्यक्ष अर्धनग्न होकर एक लड़की के साथ नशे की हालत में डांस करते नजर आ रहे हैं। वायरल वीडियो में हिन्दी फिल्म 'विश्वात्मा' का गाना 'सात समंदर पार' की धून पर अर्धनग्न कपड़े में लड़की को पकड़कर डांस करते दिख रहे हैं।

वीडियो और फोटो वायरल होने के बाद ही यह माना जा रहा था कि निवर्तमान थानाध्यक्ष के खिलाफ एसपी लिपि सिंह कड़ी कार्रवाई करेंगी। इससे पहले भी लापरवाही और अनियमितता के आरोप में कई पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी है।

Sakshi
Next Story
Share it