Begin typing your search...

बिहार में खाद्यान्नों के बेहतर रखरखाव के लिए भंडारण क्षमता को बढ़ाया जाएगा :चौबे

बिहार में खाद्यान्नों के बेहतर रखरखाव के लिए भंडारण क्षमता को बढ़ाया जाएगा :चौबे
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पटनाः केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण तथा पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि बिहार में खाद्यान्नों के बेहतर रखरखाव के लिए भंडारण क्षमता को बढ़ाया जाएगा। साथ ही बड़े पैमाने पर यहां सरकारी गोदामों तथा साइलो का निर्माण करवाया जाएगा।

अश्विनी चौबे ने यहां अधिवेशन भवन में भारतीय खाद्य निगम द्वारा खाद्य सुरक्षा सप्ताह के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए कहा कि बिहार देश का प्रमुख अन्न उत्पादक राज्य है और इस दृष्टिकोण से यहां खाद्यान्नों के रखरखाव के लिए भंडारण क्षमता को बढ़ाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता मामले, खाद्य तथा सार्वजनिक वितरण मंत्रालय और भारतीय खाद्य निगम की ओर से बिहार में बड़े पैमाने पर भंडारण क्षमता को बढ़ाने के लिए शीघ्र ही एक कार्य योजना बनाई जाएगी और उसे जल्द ही मूर्त रूप प्रदान किया जाएगा।


वहीं केंद्रीय मंत्री ने कहा कि धान का कटोरा कहे जाने वाले कैमूर और बक्सर जिले में भंडारण क्षमता को बढ़ाने के लिए 12 हजार 500 मेट्रिक टन भंडारण की क्षमता वाले दो साइलो का निर्माण कार्य तेजी से करवाया जा रहा है। देश में चावल के भंडारण के लिए पायलट प्रोजेक्ट के तहत बिहार का यह प्रथम साइलो प्रोजेक्ट है। इसके बन जाने से शाहाबाद परिक्षेत्र में चावल का भंडारण आसान हो जाएगा। इससे किसानों को काफी सुविधा होगी। इससे यहां धान क्रय लक्ष्य को भी बढ़ाया जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार प्रधानमंत्री के नेतृत्व में वर्ष 2024 तक सभी लाभकारी योजनाओं के तहत फोर्टीफाइड राइस का वितरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। खाद्य सुरक्षा के साथ पौष्टिकता सुरक्षा, किसानों के अत्यधिक कल्याण और आत्मनिर्भर भारत के लिए हमारी सरकार संकल्पित है। प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व में भारत सरकार आज खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने और 138 करोड़ के इस जनतंत्र को सशक्त अन्नतंत्र बनाने के लिए पूरी तरह प्रयासरत है l

इन्ही प्रयासों के फलस्वरूप कोरोना महामारी के बावजूद किसान से जहाँ रिकॉर्ड खरीद हुई, वहीँ देश के 80 करोड़ जनता के बीच मुफ़्त खाद्यान्न वितरित भी हुई। कार्यक्रम को पूर्व केंद्रीय मंत्री, सांसद श्री रामकृपाल यादव, बिहार की खाद्य आपूर्ति मंत्री श्रीमती लेसी सिंह, विधायक श्री संजीव चौरसिया , एफसीआई के कार्यकारी निदेशक (पूर्वी अंचल) डॉ. अजित कुमार सिन्हा , महाप्रबंधक (क्षेत्र) श्री संजीव कुमार ने भी संबोधित किया। भदानी उपस्थित थे l कार्यकारी निदेशक (पूर्व) ने सभी गणमान्य लोगों का परंपरागत तरीके से तथा भाषण देकर स्वागत किया।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it