Top
Begin typing your search...

सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती पर 'औकात' वाले बयान पर बिहार के DGP ने दी सफाई, कही ये बात

सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती पर अपने बयान 'औकात' पर सोशल मीडिया में ट्रोल हुए थे बिहार के डीजीपी?

सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती पर औकात वाले बयान पर बिहार के DGP ने दी सफाई, कही ये बात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सुशांत सिंह राजपूत केस में रिया चक्रवर्ती पर अपने बयान 'औकात' पर सोशल मीडिया में ट्रोल होने के बाद बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने अपनी सफाई दी है। डीजीपी ने एक बयान में कहा कि औकात का अंग्रेजी में मतलब 'कद' से है। और रिया चक्रवर्ती का ऐसा कद नहीं है कि वह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कोई कमेंट कर सके। कहा कि उसे नहीं भूलना चाहिए कि वह सुशांत सिंह राजपूत केस में नामजद आरोपी है। जो केस मेरे पास था और अब सीबीआई के पास है।


डीजीपी ने कहा कि अगर कोई राजनीतिक नेता बिहार के सीएम पर टिप्पणी करता है तो मैं इस पर टिप्पणी करने वाला कोई नहीं हूं। लेकिन अगर कोई आरोपी बिहार के सीएम पर कुछ बेबुनियाद टिप्पणी करता है तो यह आपत्तिजनक है। रिया चक्रवर्ती की टिप्पणी अनुचित थी उसे अपनी लड़ाई कानूनी रूप से लड़नी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत केस के सीबीआई को सौंपे जाने बाद डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे(Bihar DGP Gupteshwar Pandey) से रिया चक्रवर्ती के सीएम पर टिप्पणी को लेकर सवाल के जवाब में कहा था कि- 'रिया चक्रवर्ती की औकात नहीं है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर टिप्पणी करने की'। डीजीपी के इस बात पर जहां उन्हें कई लोगों का समर्थन मिला था वहीं उन्हें सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल भी किया गया था।

सुनिए- रिया को लेकर डीजीपी ने क्या कहा?



रिया समेत दस लोग सीबीआई जांच की जद में

रिया चक्रवर्ती सहित दस लोग सीबीआई की जांच की जद में होंगे। इनमें रिया चक्रवर्ती के अलावा उनका भाई शौविक चक्रवर्ती, पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती, कर्मी सैमुअल मिरांडा, दोस्त सिद्धार्थ पिठानी, कुक नीरज, सुशांत की पूर्व मैनेजर श्रुती मोदी, रिया की मां संध्या चक्रवर्ती शामिल हैं। इनमें सिद्धार्थ पिठानी मुंबई छोड़कर हैदराबाद में रह रहा है जबकि बाकी के लोग मुंबई में ही हैं। पूछताछ के दौरान इन लोगों से सीबीआई की टीम कुछ अहम कागजात की मांग भी कर सकती है।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it