Begin typing your search...

शिक्षक अभ्यर्थियों के साथ सड़क पर उतरे तेजस्वी ने जब पटना डीएम को मिलाया फोन, फिर क्या हुआ?

जिलाधिकारी से बात करते हुए उन्हें अपना परिचय देना पड़ा क्योंकि पटना के डीएम चंद्रशेखर यह नहीं समझ पाए कि किससे बात हो रही है।

शिक्षक अभ्यर्थियों के साथ सड़क पर उतरे तेजस्वी ने जब पटना डीएम को मिलाया फोन, फिर क्या हुआ?
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बिहार की राजधानी पटना में TET पास शिक्षक अभ्यर्थी आंदोलन कर रहे हैं। इस आंदोलन में राजद के नेता तेजस्वी यादव भी पहुंच गए। तेजस्वी यादव के वहां पहुंचते ही उनके जिंदाबाद के नारे लगने लगे। पटना के इको पार्क में बड़ी संख्या में शिक्षक अभ्यर्थी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

धरना स्थल पर पहुंचकर तेजस्वी यादव ने पहले आंदोलनकारियों को समस्या सुनी और इसके बाद डीजीपी, मुख्य सचिव और डीएम को कॉल किया। तेजस्वी यादव ने पहले बिहार के मुख्य सचिव और डीजीपी से बात की लेकिन जिलाधिकारी से बात करते हुए उन्हें अपना परिचय देना पड़ा क्योंकि पटना के डीएम चंद्रशेखर यह नहीं समझ पाए कि किससे बात हो रही है।

तेजस्वी यादव ने जैसे ही अपना परिचय दिया तो डीएम ने वहां से सर कहना शुरू कर दिया और मामले की गंभीरता को समझते हुए शिक्षक अभ्यर्थी को गर्दनीबाग में धरना देने की अनुमति दी। तेजस्वी यादव ने मुख्य सचिव और डीजीपी को भी इसी उपलक्ष्य में फोन किया था ताकि गर्दनीबाग में धरना करने की अनुमति मिल जाए।

बता दें कि जब तक आंदोलनकारियों को गर्दनीबाग में धरना करने की अनुमति नहीं मिली, तब तक तेजस्वी यादव वहीं रहे। जैसे ही गर्दनीबाग में धरना करने की अनुमति मिली, तेजस्वी यादव पैदल ही इको पार्क से गर्दनीबाग तक पहुंच गए। यहां भी तेजस्वी यादव शिक्षक अभ्यर्थियों के साथ धरना प्रदर्शन पर बैठे रहे।

एक बार तेजस्वी यादव के जिंदाबाद के नारे लगे। तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा। हालांकि थोड़ी देर धरना स्थल पर बैठकर तेजस्वी यादव वहां से चले गए। प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज करने को लेकर तेजस्वी यादव ने एसएसपी से बात की और इस घटना को अलोकतांत्रिक बताया।


Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it