Begin typing your search...

अमित शाह के दौरे से पहले वीर कुंवर सिंह की पौत्र वधु को किया गया नजरबंद

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के दौरे से पहले पौत्र वधु पुष्पा सिंह को प्रशासन ने घर में नजरबंद कर दिया। 

अमित शाह के दौरे से पहले वीर कुंवर सिंह की पौत्र वधु को किया गया नजरबंद
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

एक तरफ BJP बिहार (Bihar) में आज शनिवार को वीर कुंवर सिंह (Veer Kunwar Singh) का विजयोत्सव मना रही है, वहीं दूसरी तरफ उनकी पुत्र वधु के अपमान का मामला सामने आया है। गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के दौरे से पहले पौत्र वधु पुष्पा सिंह को प्रशासन ने घर में नजरबंद कर दिया। उन्हें माल्यार्पण से भी रोक दिया गया। यह गंभीर आरोप सिंह ने लगाया है।बाबू वीर कुंवर सिंह की पौत्र वधु ने आरोप लगाया है कि 'जन्मोत्सव समारोह बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है, लेकिन हमारे किले के मुख्य दरवाजे को सील कर दिया गया है। मुझे माल्यार्पण से भी रोका जा रहा है। सभी नेता और अफसरों ने आश्वासन दिया था कि न्याय दिलाया जाएगा। अब मुझे ही किले में बंद कर दिया है।पुष्पा सिंह ने आरोप लगाया, 'मामले की लीपापोती करने के लिए घर को सील करके मुझे नजरबंद किया। मैं हर साल माल्यार्पण करती हूं, लेकिन इस बार मुझे रोका गया। यह गहरी साजिश है। मैं पूरे भारत वासियों से अपील करती हूं कि हमारे दादा वीर कुंवर सिंह जाति विशेष नहीं, बल्कि राष्ट्र के थे। उन्हें एक जाति तक सीमित करने की साजिश है।'

1857 की क्रांति के महानायक वीर कुंवर सिंह के प्रपौत्र की 28 मार्च को संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। उन्होंने जगदीशपुर के रेफरल अस्पताल में दम तोड़ा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 45 साल के कुंवर रोहित सिंह उर्फ बबलू सिंह जगदीशपुर नगर के वार्ड संख्या-18 निवासी स्व. कुंवर विजय सिंह के बेटे थे। मौत की सूचना के बाद परिजन और ग्रामीणों ने जमकर हंगामा मचाया। मृतक की मां पुष्पा सिंह ने पुलिस की पिटाई से बेटे की मौत का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि 'मेरे बेटे की हत्या हुई है। कार्रवाई नहीं हुई तो देश हिल जाएगा।' तब रोहित की मां ने पीएम मोदी और नीतीश कुमार से न्याय की गुहार लगाई थी।

Sakshi
Next Story
Share it