Begin typing your search...

ग्रेजुएट चायवाली के नाम से फेमस पटना की प्रियंका गुप्ता के स्टाल को नगर निगम हटाया तो उसने उठाया यह कदम

ग्रेजुएट चायवाली के नाम से फेमस पटना की प्रियंका गुप्ता के स्टाल को नगर निगम हटाया तो उसने उठाया यह कदम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पटना मे ग्रेजुएट चायवाली के नाम से फेमस पटना की प्रियंका गुप्ता के स्टाल को नगर निगम ने वापस लौटा दिया है. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से मिलने के बाद ग्रेजुएट चाय वाली प्रियंका गुप्ता को उसका चाय का स्टाल मिला. गुरुवार को पटना नगर निगम नगर ने अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत प्रियंका गुप्ता का स्टाल उठाकर जब्त किया था. जिसके बाद प्रियंका गुप्ता रोती हुई डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और लालू यादव से मिलने पहुंची थीं.

तेजस्वी यादव से मिलने के बाद प्रियंका गुप्ता ने कहा कि उसे निगम के डिप्टी कमिश्नर ने आश्वासन दिया था और हमने लाइसेंस भी लिया है, तेजस्वी यादव ने अभी कहा है आप मेरे नाम से एक प्रार्थना पत्र लिखकर दीजिए फिर आगे देखते हैं. अब डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की पहल पर स्टाल वापस मिल गया है. बता दें कि प्रियंका गुप्ता बिहार के पूर्णिया जिले की रहने वाली है और वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ से कॉमर्स में स्नातक किया है. सरकारी नौकरी की तैयारी करने के बाद भी जब नौकरी नहीं मिली तो प्रियंका ने चाय का स्टाल लगाया.

प्रियंका की दुकान 'ग्रेजुएट चायवाली' पर साउथ फिल्मों के सुपरस्टार विजय देवरकोंडा और भोजपुरी फिल्मों की स्टार अक्षरा सिंह भी चाय पीने पहुंच चुकी हैं. प्रियंका को शोहरत मिली, लेकिन अब पटना नगर निगम ने उन पर कार्रवाई कर दी. प्रियंका ने कहा कि उन्होंने अधिकारियों से गुहार लगाई की उन्हें थोड़ी मोहलत दे दी जाए ताकि वो पैसे जमा कर अपनी दुकान ले सके

लेकिन फिर भी उनके स्टॉल को हटा दिया उन्होंने कहा, 'लोग कहते हैं कि ग्रेजुएट चाय वाली तीन लाख रुपये कमाती है लेकिन मेरा उस हिसाब से खर्च भी होता है.' प्रियंका ने कहा, 'मैं तीन लाख रुपये महीने का नहीं कमाती क्योंकि मार्केट डाउन चला गया है.'

Desk Editor
Next Story
Share it