Top
Begin typing your search...

जानें यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 में कितने अंकों का होगा रोल नंबर, कक्ष निरीक्षकों के रूप में किसकी होगी नियुक्ति

संशोधित टाइम-टेबल 2021 के मुताबिक हाई स्कूल की परीक्षाएं 8 मई से 25 मई तक आयोजित की जाएंगी। वहीं इंटरमीडिएट कक्षाओं की परीक्षाएं 8 मई से शुरू होकर 28 मई तक चलेंगी।

जानें यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 में कितने अंकों का होगा रोल नंबर, कक्ष निरीक्षकों के रूप में किसकी होगी नियुक्ति
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उत्तर प्रदेश. देशभर के राज्यों में बोर्ड परीक्षाएं शुरू होनी हैं, लेकिन कोरोना के फिर से बढ़ते मामलों के कारण कई राज्यों ने बोर्ड परीक्षाओं की तिथियों में बदलाव किया है वही उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपीएमएसपी) द्वारा दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं की संशोधित टाइम-टेबल जारी होने के बाद से ही बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसी कड़ी में बोर्ड ने इस सत्र में परीक्षार्थीओं को खास तरह के रोल नंबर आवंटित किए हैं। पहले रोल नंबर साल अंकों के हुआ करते थे, किंतु अब यह नौ अंकों के होंगे। बोर्ड प्रशासन के मुताबिक परीक्षार्थीयों, अभिभवकों व बोर्ड कार्यालयों की सहूलियत के लिए रोल नंबर के आगे परीक्षा वर्ष भी जोड़ दिया गया है।

हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी को अनुसार कक्ष निरीक्षकों की नियुक्ति के लिए डीआईओएस ने सभी विद्यालयों से शिक्षकों के नाम की सूची आमंत्रित की है। माना जा रहा है कि इस बार प्राइमरी विद्यालयों के शिक्षकों को भी कक्ष निरीक्षक के पदों पर नियुक्त किया जाएगा।

बता दें संशोधित टाइम-टेबल 2021 के मुताबिक हाई स्कूल की परीक्षाएं 8 मई से 25 मई तक आयोजित की जाएंगी। वहीं इंटरमीडिएट कक्षाओं की परीक्षाएं 8 मई से शुरू होकर 28 तक चलेंगी। दोनों कक्षाओं की परिक्षाएं दो शिफ्ट में आयोजित की जाएंगी। पहली शिफ्ट सुबह 8 बजे से 11.15 बजे तक और दूसरी शिफ्ट दोपहर 2 बजे से शाम 5.15 बजे तक होगी। यूपी बोर्ड के नियमों के मुताबिक परीक्षार्थी को परीक्षा आरंभ होने से पहले प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए 15 मिनट का समय दिया जाएगा। इसके अलावा दिव्यांग एवं दृष्टिबाधित परीक्षार्थियों को निर्धारित अवधि के अतिरिक्त 20 मिनट प्रति घंटे के हिसाब से दिया जाएगा.

विकास त्रिपाठी

About author
राजनीतिक संपादक
    Next Story
    Share it