Begin typing your search...

छत्तीसगढ़: कोरोना काल में पत्रकारों की मदद के सवाल पर जवाब तक नहीं दे पाए, लायंस क्लब गोल्ड पदाधिकारी

वाहवाही लूटने के लिए चंद लोगों को बुलाकर सम्मान कर देना क्या यही पत्रकारिता का सम्मान है, समाज के सबसे शुरुआती स्तर पर काम करने वाले और मुख्य कोरोना वॉरियर्स सफाई कर्मियों का मौजूद न होना खटकने वाला था

छत्तीसगढ़: कोरोना काल में पत्रकारों की मदद के सवाल पर जवाब तक नहीं दे पाए, लायंस क्लब गोल्ड पदाधिकारी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बिलासपुर: बिलासपुर लायंस क्लब गोल्ड द्वारा आज विजयापुरम स्थित भवन में कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में कार्यक्रम रखा गया था।

जहां पर लायंस क्लब गोल्ड की महिला पदाधिकारियों ने अपने जान पहचान के लोगों का सम्मान किया। मुट्ठी भर लोगों द्वारा किए गए कार्यक्रम में बार-बार सवाल उठते रहे कि, मुख्य धारा के कोरोना वॉरियर्स के रूप में काम करने वाले लोगों को भूलकर आखिर अपने जान-पहचान वाले लोगों का सम्मान करना क्या सही में कोरोना वॉरियर्स का सम्मान करना कहलाएगा?

कार्यक्रम के दौरान लायंस क्लब गोल्ड की अध्यक्ष और सचिव चुन्नी मौर्य समेत लायंस क्लब गोल्ड की समस्त पदाधिकारी मौजूद रहीं। कार्यक्रम के दौरान स्कूली बच्चों को सम्मानित कर उन्हें भेंट स्वरूप उपहार भी दिया गया, लेकिन इन सबके बीच बड़ी बात यह रही कि, जिन पत्रकारों के सम्मान की बात लायंस क्लब गोल्ड के पदाधिकारी करते नजर आए, उनमें से आधे से भी कम पत्रकार मौके पर नजर नहीं आए।

वाहवाही लूटने के लिए चंद लोगों को बुलाकर सम्मान कर देना क्या यही पत्रकारिता का सम्मान है, समाज के सबसे शुरुआती स्तर पर काम करने वाले और मुख्य कोरोना वॉरियर्स सफाई कर्मियों का मौजूद न होना खटकने वाला था।

कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करते हुए पदाधिकारी बचते नजर आए, क्योंकि जिस तरह के सवाल पत्रकारों के थे उसमें कहीं न कहीं उनका पहचानवाद नजर आ रहा था जब पत्रकारों ने सवाल किया कि कोरोना काल में जरूरतमंद पत्रकारों की क्या और कितनी मदद की गई तो जवाब के समय पदाधिकारी बगले झांकने लगी। और सवाल से बचते हुए हर वक्त साथ होने की बात कह कर निकल गई।

Desk Editor
Next Story
Share it