Top
Begin typing your search...

छत्तीसगढ़ : DM ने दवाई लेने निकले युवक का मोबाइल पटककर जड़ा थप्पड़, Video वायरल होने के बाद माफी मांगी

इस घटना को लेकर कलेक्टर रणवीर शर्मा ने माफी मांगी है.

छत्तीसगढ़ : DM ने दवाई लेने निकले युवक का मोबाइल पटककर जड़ा थप्पड़, Video वायरल होने के बाद माफी मांगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायपुर: छत्तीसगढ़ के सरगुजा संभाग के सूरजपुर जिले के कलेक्टर रणवीर शर्मा का अमानवीय चेहरा दिखाता एक वीडियो सामने आया है. जिले में लॉकडाउन के बीच शनिवार की दोपहर को एक युवक दवाई का पर्चा लेकर दवाई लेने मेडिकल स्टोर जाने को निकला. इसी बीच जिला कलेक्टर खुद दलबल के साथ लॉकडाउन का मुआयना करने निकले. इस दौरान सड़कों पर लोगों की आवाजाही देख वह बिफर पड़े. उनकी नज़र उस युवक पर पड़ी. अपने साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों से कहकर उन्होंने युवक को रुकवाया और उसे एक चांटा रसीद कर दिया. इस दौरान युवक दवाई की पर्ची भी दिखाता रहा लेकिन कलेक्टर (Collector Video Viral) ने उसकी एक न सुनी और युवक का मोबाइल छीनकर उसे सड़क पर पटक दिया.

कलेक्टर साहब का इससे भी दिल नही भरा तो उन्होने अपने गार्ड को लाठी लाकर उसे पीटने का आदेश दे डाला. सुरक्षाकर्मी ने भी अपने साहब के आदेश का पालन करते हुए युवक पर ताबड़तोड़ लाठियां बरसाईं. इस मारपीट में युवक के पैर पर गंभीर चोट आई हैं. बाद में कलेक्टर ने इस घटना को लेकर माफी मांगी.

सूरजपुर जिला मुख्यालय के पुराना बाजार पारा निवासी साहिल गुप्ता अपने पिता और माता के लिए दवाई लेने मेडिकल स्टोर के लिए निकला था. इसी दौरान भैयाथान चौक के पास जिला कलेक्टर रणवीर शर्मा ने उसे रुकवा लिया. युवक ने बताया कि वह दवाई लेने जा रहा है. इसकी पुष्टि करने के लिए उसने दवाई की पर्ची भी दिखाई लेकिन कलेक्टर ने उसे चांटा रसीद कर दिया और अपने सुरक्षाकर्मियों से कहकर डंडे भी बरसवाए.

इस घटना के बाद युवक के पिता की नाराजगी और बेबसी सामने आई. उन्होंने बताया कि उन्हें और उनकी पत्नी को कोरोना वैक्सीन का टीका लगा है जिसकी वजह से उन्होंने खुद बाहर ना जाकर अपने बेटे को दवाई लाने के लिए बाजार भेजा था. इस बीच कलेक्टर रणवीर शर्मा ने उनके बेटे के साथ ऐसा सुलूक किया.

इस घटना के बाद कलेक्टर रणवीर शर्मा के खिलाफ नाराजगी का माहौल है. लोग सहमे हुए हैं. बता दें कि जिले में 31 मई तक लॉकडाउन की घोषणा की गई है, जबकि इस लॉकडाउन के बावजूद दवाई दुकानों समेत अन्य आवश्यकता सेवा संबंधित दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है. ऐसे में एक जिला कलेक्टर का ख़ुद आम जनता पर रौब झाड़ना कहीं से सही नहीं लगता.

इस घटना को लेकर कलेक्टर रणवीर शर्मा ने माफी मांगी है. उन्होंने कहा है कि ''मैं आज के अपने व्यवहार से शर्मिंदा हूं, मैं आप सभी से माफी मांगता हूं. मेरा किसी को अपमानित करने का इरादा नहीं था. आज सूरजपुर जिला समेत पूरा छत्तीसगढ़ कोविड महामारी से जूझ रहा है. हम सभी शासकीय अमला दिन रात मेहनत कर रहे हैं ताकि इस महामारी से सबको बचाया जा सके. मेरे माता-पिता और मैं खुद कोविड संक्रमण से ग्रसित हो गए थे. माताजी अभी भी पॉजिटिव हैं. वीडियो में जो व्यक्ति है उनकी आयु 23 वर्ष है. मैं आप सभी से पुन: माफी मांगता हूं.''

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it