Top
Begin typing your search...

हाड़ कपा देने वाली ठंड ने तोड़ा रिकॉर्ड, अभी राहत के आसार नही

पहाड़ों पर समय से पूर्व हुई बर्फबारी की वजह से दिल्ली समय से करीब ....

हाड़ कपा देने वाली ठंड ने तोड़ा रिकॉर्ड, अभी राहत के आसार नही
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली। भारत में जारी कड़ाके की ठंडसे अभी राहत मिलने की संभावना नजर नहीं आ रही है दिल्ली में बुधवार को भी भीषण ठंड का दौर जारी है. सुबह का तापमान 5.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से तीन डिग्री कम है. मौसम विभाग के अनुसार, शहर में 1997 के बाद से अब तक दिसंबर के महीने में सबसे लंबी अवधि वाले और बेहद ठंडे दिन रिकॉर्ड किए गए हैं.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, 'दिल्ली में 1997 के बाद से दिसंबर महीने में अब तक का सबसे लंबा और बेहद ठंडा दिन दर्ज किया गया है.' विभाग ने यह भी कहा कि जबकि दिल्ली ने दिसंबर 1997 में भीषण ठंड वाले 17 दिन देखे थे, इस बार लगातार भीषण ठंड वाले 10 दिन दर्ज किए गए हैं. आईएमडी ने आगे कहा कि इससे पहले, दिसंबर 2014 में, दिल्ली में लगातार आठ दिनों तक भीषण ठंड जारी रही थी।

मंगलवार को अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम यानी 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम, 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. सिर्फ दिल्ली ही नहीं, बल्कि पड़ोसी नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम भी कड़ाके की शीतलहर की चपेट में हैं।

मौसम कार्यालय ने कहा कि शहर में 28 दिसंबर तक शीतलहर जारी रहेगी. साथ ही रात और सुबह के समय घना कोहरा रहेगा. राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी के तहत दर्ज की गई. केंद्र द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम अनुमान प्रणाली (सफर) के अनुसार, बुधवार सुबह दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 369 पर दर्ज किया गया।

पहाड़ों पर समय से पूर्व हुई बर्फबारी की वजह से दिल्ली समय से करीब 10 दिन पहले ही शीतलहर की चपेट में आ गई है. शीतलहर 16 दिसंबर से लगातार लोगों को परेशान कर रही है.

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it