Top
Begin typing your search...

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए लिया गया फैसला, नई दिल्ली इलाके को पांच जोन में बांटा

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए लिया गया फैसला, नई दिल्ली इलाके को पांच जोन में बांटा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर महीनों से डटे किसान अपने प्रदर्शन को और धार देने वाले हैं। तय कार्यक्रम के तहत पूरे मानसून सत्र (22 जुलाई-9 अगस्त) में किसान जंतर-मंतर पर 'किसान संसद' करेंगे। संयुक्‍त किसान मोर्चा के नेतृत्‍व में किसानों का एक जत्‍था जंतर मंतर की ओर कूच कर चुका है।

26 जनवरी को हुई हिंसा के कड़े अनुभव को देखते हुए किसानों के प्रदर्शन को लेकर दिल्ली पुलिस अलर्ट हो गई है। पुलिस इस बार सुरक्षा में कोई चूक नहीं छोड़ना चाहती है। नई दिल्ली के अति वीआईपी इलाके को पांच जोन में बांटा गया है। हर जोन की सुरक्षा की जिम्मेदारी एक डीसीपी स्तर की अधिकारी को सौंपी गई है।

नई दिल्ली के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जंतर-मंतर, इंडिया गेट, विजय चौक, कनॉट प्लेस व बाराखंभा को पांच जोन में बांटा गया है। हर जोन की जिम्मेदारी एक डीसीपी संभालेगा। जोन में दिल्ली पुलिस, बाहरी पुलिस व अर्धसैनिक बल भी तैनात रहेंगे। जोन में प्रवेश करना व निकलना आसान नहीं होगा। जंतर-मंतर व विजय चौक को विशेष जोन बनाया गया है।

दिल्ली पुलिस आयुक्त बालाजी श्रीवास्तव बुधवार दोपहर जंतर-मंतर पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। वह व्यवस्था से संतुष्ट नजर आए। वह काफी देर तक वहां रहे और पुलिस अधिकारियों से बातचीत की। उन्होंने निर्देश दिए कि सुरक्षा में कोई चूक नहीं होनी चाहिए।

जंतर मंतर पर सुरक्षा के पुख्ते इंतजाम किए है। पैरा-मिलिट्री फोर्स के साथ दिल्ली पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। कई लेयर बेरिकेडिंग की गई है. जंतर मंतर आने के सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है। पूरा जंतर मंतर छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इसके अलावा संसद के आस पास के सभी रास्तों पर जवानों की तैनाती की गई है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it