Top
Begin typing your search...

शाहीन बाग में बंद रास्ते पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई टली, अब जज ने सोमवार को सुनवाई करने के पीछे बताई ये वजह

शाहीन बाग में CAA-NRC के खिलाफ महिलाएं और बच्चे बीते 15 दिसंबर से यहां प्रदर्शन कर रहे हैं. इनकी मांग है कि सरकार इस कानून को वापस ले।

शाहीन बाग में बंद रास्ते पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई टली, अब जज ने सोमवार को सुनवाई करने के पीछे बताई ये वजह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। कल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भी शाहीन बाग का इलाका काफी संवेदनशील माना जा रहा है। दिल्ली निर्वाचन आयोग ने इलाके में आने वाले सभी पांच मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा है। तो वही आज सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग बंद रास्ते को लेकर सुनवाई आगे टल गई अब शाहीन बाग में प्रदर्शनों के खिलाफ याचिकाओं की सुनवाई 10 फरवरी को करेगा क्योंकि वह मामले की शुक्रवार को सुनवाई करके दिल्ली विधानसभा चुनाव को प्रभावित नहीं करना चाहता।

न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने कहा कि हम इस बात को समझते हैं कि वहां समस्या है और हमें देखना होगा कि इसे कैसे सुलझाया जाए। हम सोमवार को इस पर सुनवाई करेंगे। तब हम बेहतर स्थिति में होंगे।

जब याचिकाकर्ताओं में से एक की ओर से पेश वकील ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आठ फरवरी को मतदान होना है तो पीठ ने कहा कि हम इसलिए ही तो कह रह रहे हैं कि सोमवार को आइए। हमें उसे प्रभावित क्यों करना चाहिए?' पीठ ने याचिकाकर्ताओं से कहा कि वह सोमवार को इस बात पर बहस करने के लिए तैयार होकर आएं कि इस मामले को दिल्ली हाई कोर्ट को वापस क्यों नहीं भेजा जाना चाहिए।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) रणबीर सिंह ने कहा ने कहा कि मतदाताओं में विश्वास बढ़ाने के लिए सुरक्षा बल इलाके में मार्च और गश्त करेंगे। पुलिस बल और चुनाव कर्मी सतर्कता बरतेंगे और हर वक्त हालात की निगरानी करेंगे।

इस बीच दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक शुक्रवार को शाहीन बाग का दौरा कर सकते हैं. वो दोपहर दो से तीन बजे के बीच यहां जा सकते हैं. चुनाव के एक दिन पहले इस दौरे में वो विधानसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेंगे.

बता दें कि शाहीन बाग प्रोटेस्ट का शुक्रवार को पचपनवां दिन है. CAA-NRC के खिलाफ महिलाएं और बच्चे बीते 15 दिसंबर से यहां प्रदर्शन कर रहे हैं. इनकी मांग है कि सरकार इस कानून को वापस ले. इस प्रोटेस्ट की वजह से को नोएडा और बाकी दिल्ली से जोड़ने वाले शाहीन बाग इलाके की ये सड़क पिछले 55 दिन से बंद है. इस वजह से लोगों और वहां रहने वालों को काफी दिक्कतें हो रही हैं।

बता दें कि दिल्ली में आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है. 11 फरवरी को चुनाव के नतीजे घोषित होंगे. चुनाव आयोग के मुताबिक मतदान के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it