Top
Begin typing your search...

उपचार नहीं मिलने से मेरे पति और मां की एक घंटे के अंतराल में मौत हो गई दूरदर्शन की पूर्व महानिदेशक

उपचार नहीं मिलने से मेरे पति और मां की एक घंटे के अंतराल में मौत हो गई दूरदर्शन की पूर्व महानिदेशक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

संजय रोकड़े

दूरदर्शन की पूर्व महानिदेशक अर्चना दत्ता ने समय पर उपचार नहीं मिलने के चलते एक घंटे के अंतराल में कोविड-19 से पीडि़त अपने पति और मां को खो दिया। ऑक्सीजन का स्तर गिरने के बाद दत्ता दोनों को अस्पताल में भर्ती कराने के प्रयास में लगी रही लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। ट्विटर पर अपना दर्द साझा करते हुए दत्ता ने कहा कि मालवीय नगर के एक सरकारी अस्पताल में 27 अप्रैल को दोनों का निधन होने के बाद उन्हें कोरोना वायरस से संक्रमित घोषित किया गया।

तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के कार्यकाल के दौरान राष्ट्रपति भवन की प्रवक्ता रही अर्चना दत्ता ने कहा कि- मेरे जैसा कुछ लोग सोचते हैं कि ऐसा उनके साथ नहीं हो सकता, लेकिन ऐसा हुआ। मेरे पति और मां, दोनों की बिना उपचार के मौत हो गई। हम आमतौर पर दिल्ली के जिन बड़े अस्पतालों में जाते थे, वहां हम उपचार नहीं पा सके।

हां, मौत के बाद उन्हें कोरोना वायरस से संक्रमित घोषित किया गया। दत्ता के पति एआर दत्ता (68) और उनकी मां बानी मुखर्जी (88) की मौत राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन और बिस्तरों की कमी को उजागर करती है। एआर दत्ता रक्षा मंत्रालय के प्रशिक्षण संस्थान से निदेशक के तौर पर सेवानिवृत्त हुए थे।

समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा से कहा, मेरा बेटा दोनों मरीजों को दक्षिण दिल्ली के कई निजी अस्पतालों में ले गया लेकिन कहीं भर्ती नहीं किया गया। अंत में मालवीय नगर के एक सरकारी अस्पताल ने उन्हें भर्ती किया।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it