Top
Begin typing your search...

स्वतंत्रता दिवस पर केजरीवाल ने किया ऐलान, अब पढ़ाया जाएगा 'देशभक्ति का पाठ', और जानें खास बातें

स्वतंत्रता दिवस पर केजरीवाल ने किया ऐलान, अब पढ़ाया जाएगा देशभक्ति का पाठ, और जानें खास बातें
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को 75वें स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली सचिवालय भवन में ध्वजारोहण किया। मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जहां दिल्ली में बीते पांच साल में शिक्षा पर हुए काम के बारे में बताया, वहीं कई नई घोषणाएं भी कीं। इस दौरान केजरीवाल ने महान स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत सिंह को श्रद्धांजलि के रूप में 27 सितंबर से दिल्ली सरकार के स्कूलों में 'देशभक्ति पाठ्यक्रम' शुरू किए जाने का ऐलान किया।

उन्होंने कहा कि इसका मकसद प्रत्येक बच्चे में गर्व करने की भावना भरना और उन्हें राष्ट्र के लिए अपना सर्वस्व देने के लिए तैयार करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा पाठ्यक्रम फिजिक्स, केमिस्ट्री पढ़ाता है, लेकिन देशभक्ति नहीं। यह 'देशभक्ति पाठ्यक्रम' हमारे बच्चों में देशभक्ति का भाव जगाएगा।

इस पाठ्यक्रम को हरी झंडी देते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले 70 साल में सारे विषय पढ़ाए गए, लेकिन देशभक्ति नहीं पढ़ाई गई। अब दिल्ली के स्कूलों में देशभक्ति की पढ़ाई होगी। अब हम हर दिन आजादी की भावना का जश्न मनाने के लिए खुद को प्रतिबद्ध करें। स्कूलों में स्वतंत्रता दिवस का जश्न अब प्रतीकात्मक नहीं, बल्कि वास्तविक होगा। उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि हम देश प्रेम के मूल्यों को दैनिक जीवन के साथ जोड़ना चाहते हैं। यही देशभक्ति पाठ्यक्रम का सार है।

शनिवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के नेतृत्व में शिक्षा निदेशालय व एससीईआरटी के वरिष्ठ अधिकारियों और शिक्षकों की टीम ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात कर देशभक्ति पाठ्यक्रम के कार्यान्वयन पर चर्चा की।

जानें अन्‍य खास बातें

सीएम केजरीवाल ने कहा कि हम 2047 के बाद ओलंपिक की मेजबानी के लिए अपना पक्ष रखने की तैयारी करेंगे, दिल्ली को उस स्तर तक ले जाना होगा.

दिल्ली में सैनिक स्कूल होगा और विद्यार्थियों को सशस्त्र बलों में जाने की तैयारी के लिए दिल्ली सशस्त्र बल प्रशिक्षण अकादमी खोलने की तैयारियां शुरू करेंगे.

हमने दिल्ली खेल विश्वविद्यालय स्थापित किया है, न सिर्फ दिल्ली के लिए बल्कि पूरे देश के लिए, हर किसी को यहां आने और सुविधाओं का लाभ लेने का आह्वान करते हैं.

सीएम ने कहा कि ओलंपिक पदक विजेताओं को बधाई, अब 70 पदकों के लिए तैयारी करने की जरूरत.

दिल्ली के मॉडल की तरह गोवा ने हर परिवार को 16,000 लीटर पानी मुफ्त कर दिया है, अन्य सरकारें मुफ्त बिजली प्रदान करने की सोच रही हैं.

दिल्ली ने नवाचारों और विचारों के अनोखे तरीकों को सामने रखकर देश को शासन का मॉडल दिया है.

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it