Top
Begin typing your search...

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में अब दिया जाएगा देशभक्ति का ज्ञान

देशभक्ति का पाठ्यक्रम मौजूदा शैक्षणिक सत्र से दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों में लागू किया जाएगा।

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में अब दिया जाएगा देशभक्ति का ज्ञान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में केजरीवाल सरकार एक नए पाठ्यक्रम की शुरूआत करने जा रही है.नए पाठ्यक्रम में बच्चो को देशभक्ति का एक अलग से पाठ पढ़ाया जाएगा.जिसका मकसद है बच्चो में देशप्रेम की भावना को जगाना.इस मसौदे को राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) की शासकीय निकाय ने शुक्रवार को देशभक्ति पाठ्यक्रम की रूपरेखा को अपना लिया है.

गौरतलब है कि यह देश की आजादी का 75वां वर्ष भी है। देशभक्ति पाठ्यक्रम कमेटी की सिफारिशों के आधार पर एससीईआरटी के निदेशक रजनीश कुमार सिंह द्वारा देशभक्ति पाठ्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की गई।देशभक्ति का पाठ्यक्रम मौजूदा शैक्षणिक सत्र से दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों में लागू किया जाएगा।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह जरूरी है कि हम अपने मूल्यों और कार्यों के बीच की खाई को कम करें और यह सुनिश्चित करें कि समानता, बंधुत्व और न्याय के संवैधानिक आदर्शों का पालन बच्चे अपने दैनिक जीवन में भी करें।

सर्वोदय कन्या विद्यालय मोती बाग की प्रिंसिपल रेणु भाटिया और डाइट आरके पुरम की पूर्व प्रिंसिपल शारदा कुमारी की अध्यक्षता में कमेटी ने छात्रों, शिक्षकों, अभिभावकों, नागरिक समाज संगठनों और व्यापक साहित्य समीक्षा के साथ व्यापक परामर्श के आधार पर अपनी सिफारिशें कीं।

कमेटी ने कहा कि ढांचे में तीन प्राथमिक लक्ष्य बताए गए हैं जो छात्रों के बीच पाठ्यक्रम को बढ़ावा देंगे- राष्ट्र के लिए प्यार और गर्व, अपनी जिम्मेदारियों और कर्तव्यों के बारे में जागरूकता और देश के लिए बलिदान करने की प्रतिबद्धता।

इसने कहा कि पाठ्यक्रम का उद्देश्य मौलिक कर्तव्यों और संवैधानिक मूल्यों के प्रति सम्मान की गहरी भावना विकसित करना, किसी देश के साथ संबंध और अपनी भूमिकाओं और जिम्मेदारियों के प्रति जागरूक जागरूकता विकसित करना है, जैसा कि नई शिक्षा नीति में उजागर किया गया है।




RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it