Begin typing your search...

दिल्ली में 12 दिनों में 1700 से ज्यादा पुलिसकर्मी आए कोरोना की चपेट में

दिल्ली में 12 दिनों में 1700 से ज्यादा पुलिसकर्मी आए कोरोना की चपेट में
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नए साल में एक जनवरी से लेकर 12 जनवरी के बीच बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। इन 12 दिनों में दिल्ली पुलिस ने 1700 से अधिक कर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं।

दिल्ली पुलिस में कोरोना का संक्रमण काफी तेज हो गया है। नए साल में एक जनवरी से लेकर 12 जनवरी के बीच बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जी हां इन 12 दिनों में दिल्ली पुलिस ने 1700 से अधिक कर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। यह जानकारी बुधवार को मिली, इसमें भी आखिरी के सिर्फ दो दिनों में करीब 700 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं। बता दें, पुलिकर्मियों में तेजी से बढ़ते संक्रमण को देखते हुए...

दिल्ली पुलिस में कोरोना का संक्रमण काफी तेज हो गया है। नए साल में एक जनवरी से लेकर 12 जनवरी के बीच बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जी हां इन 12 दिनों में दिल्ली पुलिस ने 1700 से अधिक कर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। यह जानकारी बुधवार को मिली, इसमें भी आखिरी के सिर्फ दो दिनों में करीब 700 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं।

बता दें, पुलिकर्मियों में तेजी से बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पुलिसकर्मियों को बूस्टर खुराक देने के लिए पुलिस मुख्यालय में विशेष शिविर लगाई गई है। ताकि इन फ्रंट लाइन वर्कर को संक्रमण से बचाया जा सके। हालांकि राहत की बात य है कि सभी संक्रमित पुलिसकर्मियों की हालत ठीक है और वे क्वारंटाइन में हैं। ठीक होने के बाद वे ड्यूटी पर वापसी करेंगे। दिल्ली पुलिस में करीब 85 हजार कर्मी हैं। जय सिंह मार्ग पर स्थित पुलिस मुख्यालय में काम करने वाले कर्मियों के लिए एहतियात के तौर पर एक विशेष शिविर लगाया गया है जहां पात्र कर्मियों को बूस्टर खुराक दिए जाएंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार स्पेशल कमिश्नर शालिनी सिंह ने कहा कि पीएचक्यू के भूतल पर ऑफिसर्स लाउंज में साढ़े 11 बजे से कोविड टीका के एहतियाती खुराक देने के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं। यह पहल इसलिए की गई है ताकि हमारे मुख्यालय में तैनात सुरक्षाकर्मियों को कार्य अवधि के दौरान बूस्टर खुराक लेने के लिए बाहर नहीं जाना पड़े।

Sakshi
Next Story
Share it