Begin typing your search...

दिल्ली के जहांगीरपुरी में एक बार फिर से पत्थरबाजी की घटना, दो आरोपी गिरफ्तार, देखें वीडियो

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में मंगलवार रात पथराव की घटनाएं सामने आईं। मिली जानकारी के अनुसार, जहांगीरपुरी के जे ब्लॉक में दो समूहों के बीच झड़प की सूचना मिली। हालांकि पुलिस ने घटना के किसी भी सांप्रदायिक एंगल से इनकार किया है।

दिल्ली के जहांगीरपुरी में एक बार फिर से पत्थरबाजी की घटना, दो आरोपी गिरफ्तार, देखें वीडियो
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में मंगलवार रात पथराव की घटनाएं सामने आईं। मिली जानकारी के अनुसार, जहांगीरपुरी के जे ब्लॉक में दो समूहों के बीच झड़प की सूचना मिली। हालांकि पुलिस ने घटना के किसी भी सांप्रदायिक एंगल से इनकार किया है।

हिंसा दो समूहों के बीच हुए विवाद के बाद हुई, जिसके परिणामस्वरूप एक बड़ा विवाद हुआ। इसके बाद दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया। सीसीटीवी फुटेज में लोगों को दौड़ते और एक-दूसरे पर पथराव करते देखा जा सकता है, जबकि पथराव की घटनाओं में कुछ वाहन क्षतिग्रस्त हो गए।

दिल्ली पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने और आगे किसी भी तरह की हिंसा को रोकने के लिए जहांगीरपुरी के लिए और कर्मियों को भेजा। जनाहगीरपुरी के रहने वाले विशाल और वीरू नाम के दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

डीसीपी नॉर्थ वेस्ट उषा रंगनानी ने बताया कि पीएस महेंद्र पार्क में झगड़े और पथराव की घटना सामने आई है। एक युवक की पहचान जहीर और उसके दोस्त के रूप में हुई है, जो दो दिन पहले हुई बहस के लिए दो लड़कों की तलाश में आया था। वे कथित तौर पर नशे में थे और पथराव किया, जिसमें तीन वाहनों के शीशे क्षतिग्रस्त हो गए।

पुलिस ने झगड़े को सांप्रदायिक रंग देने से इनकार किया है, क्योंकि दोनों समूह एक ही समुदाय के हैं। डीसीपी नॉर्थ वेस्ट उषा रंगनानी ने कहा कि घटना में कोई घायल नहीं हुआ। पुलिस ने पथराव कर रहे कुछ लोगों को हिरासत में लिया। किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए इलाके में पुलिस बल तैनात है।

जहांगीरपुरी में 16 अप्रैल को हनुमान जयंती जुलूस के दौरान सांप्रदायिक झड़पें हुई थीं, जिसमें आठ पुलिसकर्मियों सहित नौ लोग घायल हो गए थे। मोहम्मद अंसार हिंसा मामले में मुख्य आरोपी थे। हिंसक झड़पों की सूचना जहांगीरपुरी के सी ब्लॉक इलाके से मिली। पुलिस अब तक करीब 40 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

जहांगीरौरी हिंसा मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले के तामलुक में जहांगीरपुरी में 16 अप्रैल को हुई सांप्रदायिक झड़पों के एक प्रमुख आरोपी को उसके रिश्तेदार के घर से गिरफ्तार किया था। आरोपी की पहचान फरीद उर्फ नीलू के रूप में हुई है।

रिपोर्टों में कहा गया था कि केंद्रीय जांच एजेंसियां जहांगीरपुरी सांप्रदायिक हिंसा में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की कथित भूमिका की जांच कर रही हैं। हिंसक झड़पों के बाद, उत्तरी दिल्ली नगर निगम (उत्तरी डीएमसी) ने जहांगीरपुरी में एक अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इसे घंटों के भीतर रोक दिया गया।

Desk Editor
Next Story
Share it