Top
Begin typing your search...

अफीम सप्लाई करने वाला इनामी गिरफ्तार, पिछले तीन साल से चल रहा था फरार

अफीम सप्लाई करने वाला इनामी गिरफ्तार, पिछले तीन साल से चल रहा था फरार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को एक बड़ी सफलता मिली है जो की तीन साल से फरार चल रहा अफीम सप्लाई करने वाले सप्लायर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार सप्लायर पर एक लाख का इनाम घोषित है। वह पिछले तीन साल से फरार चल रहा था।

पुलिस उपायुक्त प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि गिरफ्तार सप्लायर की पहचान गांव कार्तोली, बदायूं यूपी निवासी रहीस(51) के रूप में हुई है। रहीस वर्ष 2018 में स्पेशल सेल में दर्ज नशीली पदार्थ अधिनियम के मामले में वांछित था। अदालत इस मामले में उसे भगोड़ा कर दिया था और उसपर एक लाख का इनाम घोषित किया गया था।

स्पेशल की टीम ने एक टीम को बदायूं भेजकर रहीस के बारे में जानकारी हासिल की। पूछताछ में उसके खटीमा उत्तराखंड में होने की जानकारी मिली। पुलिस की एक टीम वहां दबिश देकर उसे नूरी मस्जिद के पास से गिरफ्तार कर लिया।

जांच में पता चला कि रहीस वर्ष 2007 में गाजियाबाद में वाहन चोरी कर आपराधिक वारदात की शुरूआत की। उसके बाद उसकी मुलाकात ड्रग तस्कर बबलू से हुई। वह बबलू के साथ मिलकर नागालैंड से अफीम की तस्करी करने लगा। वह वहां से अफीम की खेप लेकर दिल्ली व एनसीआर में सप्लाई करने लगा।

वर्ष 2015 में स्पेशल सेल ने 10 किलो अफीम की खेप के साथ दो तस्करों को पकड़ा था। जिसमें रहीस का नाम सरगना के तौर पर आया था। उसके बाद पुलिस ने रहीस को गिरफ्तार कर लिया। वर्ष 2018 में जमानत पर जेल से निकलने के बाद वह फरार हो गया था।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it