Top
Begin typing your search...

रिकार्ड तोड़ बारिश से दिल्ली में आईजीआई एयरपोर्ट पर जलभराव से थमी रफ्तार

रिकार्ड तोड़ बारिश से दिल्ली में आईजीआई एयरपोर्ट पर जलभराव से थमी रफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दक्षिण-पश्चिम मानसून ने बेशक देरी से दस्तक दी है, लेकिन बीते 11 सालों में इस बार की बारिश ने दिल्ली में 1005.3 मिमी के साथ रिकॉर्ड बना दिया है। वर्ष 2010 के बाद यह पहली बार है जब दिल्ली में मानसून की बारिश ने 1000 मिमी के निशान को पार किया है। वही भारी बारिश के बाद दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (IGI Airport) के टर्मिनल-3 पर भी जलभराव हो गया। इसके चलते यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

दिल्ली में जारी मूसलाधार बारिश के कारण चार घरेलू उड़ानें और एक अंतर्राष्ट्रीय उड़ान को दिल्ली से जयपुर और अहमदाबाद के लिए डायवर्ट की गई हैं। दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (DIAL) ने कहा कि हमें यात्रियों को हुई असुविधा के लिए खेद है। अचानक हुई भारी बारिश के कारण कुछ देर के लिए प्रांगण में जलभराव हो गया। हमारी टीम ने तुरंत इस पर गौर करते हुए इस मुद्दे को सुलझा लिया।

मौसम विभाग ने दिल्ली में अगले 24 घंटे के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। संभावना जताई गई है कि शाम तक तेज बारिश हो सकती है। अधिकतम पारा 31 व न्यूनतम 24 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। सोमवार को तापमान में इजाफा हो सकता है।

मौसम विभाग के मुताबिक, आम तौर पर सफदरजंग मानक केंद्र पर मानसून में औसतन 648.9 मिमी वर्षा दर्ज की जाती है। एक जून से मानसून की शुरुआत से 10 सितंबर तक 586.4 मिमी बारिश दर्ज हुई है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि दिल्ली में 2010 में मानसून में 1031.5 मिमी बारिश दर्ज की गई थी।

दिल्ली में 2011, 2012, 2013, 2014 और 2015 में क्रमश: 636 मिमी, 544 मिमी, 876 मिमी, 370.8 मिमी और 505.5 मिमी वर्षा दर्ज की गई। वहीं, 2016 में 524.7 मिमी बारिश दर्ज की गई थी, 2017 में 641.3 मिमी, 2018 में 762.6 मिमी, 2019 में 404.3 मिमी और 2020 में 576.5 मिमी बारिश का रिकॉर्ड है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it