Begin typing your search...

Shraddha murder case: 6000 पन्ने और 150 गवाह, श्रद्धा वाकर की हत्या के दिन का यह 'राज' चार्जशीट से आया सामने!

तकरीबन 6 हजार पन्नों की इस चार्जशीट में कुल 150 गवाह नामजद किए गए हैं। अब एक-एक कर यह गवाह इस हत्याकांड से जुटे साक्ष्यों से पर्दा हटाएंगे।

Shraddha murder case: 6000 पन्ने और 150 गवाह, श्रद्धा वाकर की हत्या के दिन का यह राज चार्जशीट से आया सामने!
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Shraddha Walker murder case: दिल्ली के जिस श्रद्धा वाकर हत्याकांड ने पूरे देश में सनसनी फैला दी थी आखिरकार मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में उसकी चार्जशीट दायर कर दी। तकरीबन 6 हजार पन्नों की इस चार्जशीट में कुल 150 गवाह नामजद किए गए हैं। अब एक-एक कर यह गवाह इस हत्याकांड से जुटे साक्ष्यों से पर्दा हटाएंगे।

उधर, पुलिस सूत्रों की मानें तो चार्जशीट में हत्या के दिन इस वारदात के होने की बड़ी वजह सामने आई है। दरअसल, उस दिन श्रद्वा अपने एक दोस्त से मिलने गई थी। श्रद्वा का जाना उसके हत्यारे आफताब पूनावाला को इतना नागवार गुजरा की उसी दिन उसने चाकू से 35 टुकड़े कर उसकी हत्या कर दी।

पुलिस ने इस मामले के मुख्य आरोपी आफताब पूनावाला (Aftab Ameen Poonawala) को भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया। कोर्ट में पेशी के दौरान आफताब ने अपना वकील बदलने की मांग की। साथ ही उसने कहा कि चार्जशीट की कॉपी उसके वकील की जगह उसे दी जाए।

मीडिया को दिए बयान में दक्षिणी रेंज की जॉइंट सीपी मीनू चौधरी ने कहा, हमने आज इस मामले में लगभग 6,000 पन्नों की चार्जशीट दायर की है। हत्याकांड में 150 से अधिक बयान दर्ज किए गए। बताया जा रहा है कि चार्जशीट में घटना के दिन व उसके बाद किस तरह आफताब ने लाश के टुकड़ों को ठिकाने लगाया इसकी पूरी विस्तृत जानकारी है। गौरतलब है कि दिल्ली के छत्तरपुर इलाके में 18 मई 2022 को श्रद्धा की हत्या के गई थी। इसके बाद बाद शव के 35 टुकड़े कर आफताब ने उन्हें दिल्ली के अलग अलग जगहों पर ठिकानें लगाया था।

बता दें कि दिल्ली के श्रद्धा वालकर मर्डर केस में लिव इन पार्टनर और आरोपी आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट कराया गया था. दिल्ली के अंबेडकर अस्पताल के एनेस्थिसिया के डॉक्टर नवीन ने कहा था कि नार्को टेस्ट 10 बजे शुरू हुआ और करीब 2 घंटे के बाद खत्म हो गया था.

आफताब पूनावाला के नार्को टेस्ट में अंबेडकर अस्पताल के 2 डॉक्टर थे, जिसमे एनेस्थीसिया के डॉक्टर नवीन और एक जूनियर डॉक्टर थे. इसके अलावा फोरेंसिक साइंस लैब की टीम से एक साइकोलॉजिस्ट और दो फोटो एक्सपर्ट शामिल रहे थे. रिपोर्ट के मुताबिक, आफताब के नार्को टेस्ट की वीडियोग्राफी भी हुई थी.

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it