Top
Begin typing your search...

अब आयशा का सुसाइड नोट आया सामने, 'तुम्हारी आंखों पर मैं फिदा थी, लेकिन...'

आयशा आगे लिखती है कि मैंने कभी तुम्हें धोखा नहीं दिया है तुमने हंसती खेलती दो जिंदगियों को उजाड़ दिया है.

अब आयशा का सुसाइड नोट आया सामने, तुम्हारी आंखों पर मैं फिदा थी, लेकिन...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गुजरात : अहमदाबाद की 23 वर्षीय आयशा को लेकर कई नए खुलासे हो रहे हैं. इसी बीच आयशा आत्महत्या मामले में आयशा के पिता और उनके वकील ने कोर्ट में वो लेटर पेश किया है जिसे आत्महत्या से पहले आयशा ने अपने पति के नाम लिखा था. इसमें आयशा ने अपनी पूरी आपबीती लिखी है.

दरअसल, पिछले दिनों अहमदाबाद के साबरमती रिवर फ्रंट से नदी में कूदकर आत्महत्या करने वाली आयशा का वीडियो वायरल होने के बाद देशभर में इस मामले को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी. लोग सोशल मीडिया के जरिए आयशा के लिए इंसाफ की मांग करने लगे थे. इसके बाद पुलिस हरकत में आ गई थी. पुलिस ने इस मामले में शिकायत दर्ज करते हुए राजस्थान के पाली से आयशा के पति आरिफ को गिरफ्तार किया था.

इसी बीच शनिवार को आत्महत्या मामले में जब आरिफ की रिमांड खत्म होने के बाद उसे पेश किया गया तभी आयशा के पिता के वकील जफर पठान ने कोर्ट में आयशा द्वारा लिखा गया एक लेटर पेश किया. यह खत आयशा ने आरिफ को लिखा था जिसमें उसने लिखा था तुमने अपनी करतूत को छुपाने के लिए मेरा नाम आसिफ के साथ जोड़ दिया जबकि आसिफ मेरा बेस्ट फ्रेंड और बेस्ट भाई है.

लेटर में आयशा ने आरिफ के जरिए खुद पर किए गए जुल्मों के बारे में भी लिखा है. आयशा ने लिखा कि तुमने मुझे 4 दिन के लिए कमरे में बंद कर दिया था, न खाना दिया था न पानी दिया था और मैं उस वक्त गर्भवती थी. तब भी तुम नहीं आए मेरी मदद के लिए और जब आए तब मुझे खूब पीटा था जिसकी वजह से मेरा लिटिल आरू आसिफ मर गया, अब मैं उसके पास जा रही हूं.


इसी लेटर में आयशा आगे लिखती है कि मैंने कभी तुम्हें धोखा नहीं दिया है तुमने हंसती खेलती दो जिंदगियों को उजाड़ दिया है. आई लव यू कुकू, मैं गलत नहीं थी बल्कि तुम्हारा स्वभाव ही गलत था. तुम्हारी आंखों पर मैं फिदा थी, लेकिन क्यों यह मैं अगले जन्म में ही बता पाऊंगी. इतना लिखने के बाद आयशा लिखती है लव यू, योर वाइफ आयशा आरिफ.

इधर आरिफ के तीन दिन का रिमांड खत्म होते ही पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया. पुलिस ने कोर्ट को कहा कि अब उनके पास आरिफ के खिलाफ सुबूत है, जिस वजह से उन्हें आरिफ की पुलिस कस्टडी नहीं चाहिए और कोर्ट ने आरिफ को ज्यूडिशल कस्टडी के लिए भेज दिया है.

इसके साथ ही इस आत्महत्या मामले में जांच कर रही रिवर फ्रंट पुलिस को आयशा और आरिफ दोनों का ही मोबाइल हाथ लग चुका है. अब पुलिस को यह लेटर भी मिल चुका है जिसकी अब फॉरेंसिक जांच होने के बाद चार्जशीट फाइल की जाएगी.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it