Top
Begin typing your search...

फेसबुक पर लड़की बनकर फँसाते थे लड़कों को

फिर हुआ ये हाल

फेसबुक पर लड़की बनकर फँसाते थे लड़कों को
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फेसबुक पर विदेशी लडकी बनकर लोगो के साथ दोस्ती कर, विदेश से सोने के आभूषण, मोबाईल फोन वगैरा का गिफ़्ट पार्सल भेजने का झांसा देकर व ऐयरपोर्ट पर कस्टम अधिकारी बनकर गिफ़्ट पार्सल पर कस्टम डयूटी, एक्साईज डयूटी, व अन्य टैक्स की चुकाने की बात कहकर अपने अकांउटो मे पैसे डलवाने वाले गिरोह के पांच नाईजिरियन व दो भारतीय जालसाजो को फरीदाबाद पुलिस की साईबर अपराध शाखा फरीदाबाद ने गिरफतार किया है। आरोपियान ने पीडित राजवीर सिंह निवासी अलीगढ, उत्तर प्रदेश से इसी तरह झांसा देकर अलग-2 बैंक खातों में करीब 35,500/- रु. धोखाधडी से हासिल कर लिए।

ऐसे दिया वारदात को अंजामः- आरोपियान फेसबुक पर विदेशी लडकी के नाम से प्रोफाईल बनाकर लोगो से दोस्ती करते थे। उसके बाद whatsapp call करके उसे महंगा गिफ़्ट भेजने का झांसा दिया जाता। फिर आरोपियान का दूसरा साथी कस्टम अधिकारी बनकर गिफ़्ट पार्सल मे महंगे आईटम होने व उसको छोडने की एवज मे कस्टम डयूटी, एक्साईज डयूटी व अन्य टैक्सो को चुकाने के नाम पर भारतीय बैक खातो मे पैसा डलवाते थे। नाईजिरियन आरोपियान को भारतीय नागरिको द्वारा धोखाधडी से रकम हासिल करने के लिए बैक खाते उपलब्ध कराए गए है।

इसी तरह आरोपियान ने विदेशी लडकी बनकर पीडित राजबीर के साथ दोस्ती की और whatsapp पर सुनीता कस्टम अधिकारी बनकर उससे केनरा बैक के खाता मे कस्टम डयूटी व अन्य टैक्स के नाम पर कुल 35,500/- रूपये धोखाधडी से हासिल कर लिए। जिसके उपरान्त शिकायतकर्ता ने इसकी शिकायत पुलिस आयुक्तालय फरीदाबाद मे की, जिस पर अभियोग संख्या 249 दिनांक 23.07.2020 जेर धारा 406, 419, 420, 467,468, 471, 120 बी भा.द.स. थाना कोतवाली, फरीदाबाद मे अंकित कराया।

पुलिस आयुक्त फरीदाबाद के संज्ञान लेते हुए आरोपियो को जल्द पकडने के निर्देश दिए। जिसके उपरान्त मकसूद अहमद पुलिस उपायुक्त अपराध के दिशानिर्देश पर अनिल यादव सहायक पुलिस आयुक्त, अपराध की देखरेख मे निरीक्षक बसन्त कुमार, प्रभारी साईबर अपराध शाखा, फरीदाबाद के नेतृत्व मे अनुसंधान अधिकारी उप निरीक्षक राकेश सिंह साथी उप निरीक्षक योगेश कुमार, उ.नि. राजेश कुमार, स.उ.नि. बाबूराम, स.उ.नि. सत्यवीर, स.उ.नि. प्रमोद, मु.सि. नरेन्द्र कुमार की एक टीम का गठन किया। जो उपरोक्त साईबर टीम ने साईबर तकनीक का प्रयोग करके, कडी मेहनत से अपराधियो को नियमानुसार गिरफतार किया है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it