Top
Begin typing your search...

निकिता को तौसीफ ने क्यों मारी थी गोली? पूछताछ में हुआ ये खुलासा

निकिता को तौसीफ ने क्यों मारी थी गोली? पूछताछ में हुआ ये खुलासा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बल्लभगढ़: हरियाणा के बल्लभगढ़ में छात्रा निकिता की हत्या के मामले में पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किया गया अवैध हथियार बरामद कर लिया है. इसके अलावा उस गाड़ी को भी बरामद कर लिया गया है जिससे आरोपी फरार हुए थे. इस मामले की जांच SIT ने शुरू कर दी है. आज SIT की टीम निकिता के घर पहुंची और परिवार से बातचीत की.

इसके अलावा SIT की टीम तौसीफ को लेकर भी निकली. दरअसल SIT को अभी तक तौसीफ का मोबाइल बरामद नहीं हुआ है. सूत्रों का कहना है कि हत्या को अंजाम देने के बाद तौसीफ ने अपना फ़ोन तोड़कर कहीं ठिकाने लगा दिया था. अब पुलिस की टीम को उस मोबाइल की तलाश है. इसके अलावा पुलिस का कहना है कि निकिता के मोबाइल को भी परिवार से लेकर फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा.

पुलिस के सूत्रों की मानें तो तौसीफ ने अपने बयान में बताया है कि वो MBBS करना चाहता था लेकिन नहीं कर पाया और उसकी वजह थी निकिता. दरअसल साल 2018 में तौसीफ पर निकिता के अपहरण का मामला दर्ज हुआ था. हालांकि वो मामला बाद में परिवार के बड़े लोगों के कहने पर सुलझा लिया गया लेकिन तौसीफ का कहना है कि उसी के बाद से वो कुछ कर नहीं पाया.

सूत्रों की मानें तो तौसीफ का कहना है कि वो निकिता से बहुत प्यार करता था और उससे शादी करना चाहता था. गोली मारने के एक दिन पहले दोनों के बीच कुछ देर बात भी हुई थी. तौसीफ ने बताया कि निकिता ने शादी के लिए इंकार कर दिया था इसलिए उसकी हत्या कर दी. वो निकिता को जबर्दस्ती अपने साथ ले जाना चाहता था और उसके मना करने पर गोली मार दी.

हरियाणा पुलिस इस केस के लिए स्पेशल PP नियुक्त किया है और 30 दिन के अंदर पुलिस इस मामले की चार्जशीट दायर करेगी. इसके अलावा आज फरीदाबाद के सांसद कृष्ण पाल गुजर भी परिवार से मिलने पहुंचे. उन्होंने बताया कि परिवार की कुछ और मांगें है जिसपर विचार किया जा रहा है परिवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री से मिलवाया जाएगा.

वहीं परिवार अभी तक की पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट है. परिवार का कहना है कि जो मांगें उन्होंने रखी थी उनमें से कुछ पूरी हो चुकी है और बाकी मांगों के लिए सरकार की तरफ से आश्वासन मिला है. परिवार ने आर्थिक मदद मांगी है और एक सरकारी नौकरी की मांग की है. फिलहाल तौसीफ और उसका साथी रेहान पुलिस रिमांड पर है दोनों की रिमांड गुरुवार खत्म हो रही है. दोनों को अदालत में पेश किया जाएगा.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it