Top
Begin typing your search...

बेटी को जन्मदिन के बहाने घर बुलाकर प्रेम विवाह से खफा पिता ने की हत्या, ऐसे हुआ खुलासा

बेटी के प्रेम विवाह से नाराज पिता ने बेटी को मौत के घट उतार दिया

बेटी को जन्मदिन के बहाने घर बुलाकर प्रेम विवाह से खफा पिता ने की हत्या, ऐसे हुआ खुलासा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरियाणा : हरियाणा से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहाँ सोनीपत में सरेआम रिश्तों का कत्ल कर दिया गया. बेटी के प्रेम विवाह से नाराज पिता ने बेटी को मौत के घट उतार दिया. घटना सोनीपत के राई थाना क्षेत्र के गांव मुकीमपुर की है. जहाँ बेटी को उसके जन्मदिन के बहाने घर पर बुलाकर हत्या कर उसका शव यूपी के मेरठ में गंगनहर में फेंक दिया.

दरअसल, मौत से पहले लड़की का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें उसने कहा था अगर मुझे कुछ होता है या मेरी मौत हो जाती है तो इसके जिम्मेदार पिता, भाई और दोस्त होंगे. इस पूरे मामले में कड़ी मशकक्त के बाद पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है और उसे जेल भी भेज दिया है. उधर पुलिस अब गंगनहर में लड़ी का शव तलाशने में जुट गयी है.

मुकीमपुर गांव की रहने वाली लड़की ने साल 2020 में पड़ोस में रहने वाले लड़के से प्रेम विवाह किया था. दोनों ने अपने परिजनों के खिलाफ जाकर घर से भागकर शादी की थी. दोनों का घर गांव में आसपास है और दोनों का गोत्र भी एक ही है. इससे लड़की के परिजन के अलावा आंतिल खाप के लोगों में भी नाराजगी थी. शादी के बाद दोनों कहीं छुपकर रह रहे थे. शादी से नाराज चल रहे लड़की के परिवार ने दोनों से झूठ बोला कि अब वो इस शादी के लिए मान गए हैं और पुरानी बातों को भूलकर दोनों से घर वापस आने के लिए कहा. फिर दोनों सावधानी के साथ परिवार से फोन पर बातें करने लगे.


लड़की के पिता विजयपाल ने छह जुलाई को बेटी को फोन किया और कहा कि सात जुलाई का उनका जन्मदिन है. तुम दोनों जन्मदिन मनाने के लिए घर आ जाओ. सब मिलकर मिठाई खाएंगे और पुरानी बातों को भूलकर नई शुरुआत करेंगे, नादानी में बच्चों से गलती हो जाती है. दोनों विजयपाल की बातों में आ गए और सावधानी के साथ पिता को फोन पर सूचना दी कि वो राई थाने के सामने खड़े हैं. विजयपाल कार में नामजद आरोपियों के साथ आया और बेटी कनिका को छह जुलाई की दोपहर को लेकर चला गया. उस समय लड़की का पति वेदप्रकाश उनकी नजरों से कहीं दूर खड़ा सब देख रहा था.

दो दिन बीत जाने के बाद लड़की के पति वेदप्रकाश ने अपने ससुर को फोन किया और पत्नी से बात कराने के लिए कहा, इस पर उसे जवाब मिला की अभी वो सो रही है. अगने दिन फिर फोन किया तो उसे बताया गया कि अभी वो अपनी बुआ से साथ गई है. दो दिन बाद फिर फोन किया फिर विजयपाल ने बोला कि बेटी अपनी मौसी के घर गई है. इस पर वेदप्रकाश को कुछ शक हुआ और उसने थाने में इसकी सूचना दी.

आरोप है कि थाने में शिकायत दर्ज कराने के बाद भी पुलिस ने जल्द कोई एक्शन नहीं लिया. इसके बाद 20 जुलाई को वेदप्रकाश फिर से थाने जाता है और अपनी पत्नी की हत्या और अपहरण होने का शक पुलिस के सामने जाहिर करता है. इस पर पुलिस फिर जांच शुरू करती है

शिकायत के आधार पर पुलिस लड़की के पिता से सख्ती से पूछताछ करती है अपना गुनाह कबूते हुए आरोपी पिता बताता है कि उसने छह जुलाई को ही थाने के सामने से ले जाकर बेटी की हत्या कर शव को मेरठ के पास गंगनहर में फेंक दिया था. वो उसे गांव लेकर नहीं आया था. इसके अलावा आरोपी पिता ने बताया कि उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है. क्योंकि आंतिल खाप के जिम्मेदार लोग भी एक ही गोत्र में शादी की निंदा कर रहे.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it