Begin typing your search...

गुरुग्राम मर्डर: हत्यारें ने कबूला, अपनी बहू और किरायेदार के बच्‍चों को क्यों मारा, शव पर इतने वार देख डॉक्टर भी हैरान

गुरुग्राम मर्डर: हत्यारें ने कबूला, अपनी बहू और किरायेदार के बच्‍चों को क्यों मारा, शव पर इतने वार देख डॉक्टर भी हैरान
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

हरियाणा के गुरुग्राम के राजेन्‍द्र पार्क थाना क्षेत्र में मंगलवार की सुबह-सुबह थाने पहुंचे एक शख्‍स ने पुलिस को बताया कि उसने पांच लोगों को मार डाला है। पुलिस उस शख्‍स की बातों पर हैरान रह गई। आनन-फानन में पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि वाकई उस शख्‍स ने अपनी पुत्रवधु, किरायेदार, किरायेदार की पत्‍नी और उसके दो बच्‍चों की हत्‍या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने उस शख्‍स को गिरफ्तार कर लिया।

हत्यारे ने पुलिस के सामने गुनाह कबूल करते हुए कहा कि बहू, किरायेदार और उसकी पत्‍नी को मौत के घाट उतारने के बाद उसने सोचा कि किरायेदार के बच्‍चे अगर बच गए तो उनकी परवरिश कौन करेगा। इसके बाद उसने दोनों छोटे बच्‍चों को भी मार डाला।

बताया जा रहा है कि रिटायर्ड फौजी ने आधे घंटे के अंदर ही पांचों लोगों के कत्‍ल का अंजाम दिया। इसके बाद खुद ही थाने पहुंचकर आत्‍मसमर्पण कर दिया। पूछताछ में उसने बच्‍चों के कत्‍ल को लेकर अपनी सफाई दी कि उनकी परवरिश के लिए कोई नहीं बचा था इसलिए उनको भी मार डाला।

पुलिस के सामने आरोपी रिटायर्ड फौजी राय सिंह द्वारा बताई गई कहानी के मुताबिक इस साल जनवरी में अपनी बहू को किरायेदार कृष्‍णा तिवारी के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। वह तभी से दोनों को खत्‍म कर देना चाहता था। लेकिन तब उसने यह कदम नहीं उठाया। अलबत्‍ता उसका शक लगातार जारी रहा। उसे लगता रहा कि दोनों के बीच नाजायज संबंधों का सिलसिला लगातार जारी है।

रिटायर्ड फौजी ने घटना से पहले उसने एक दिन पहले अपने बेटे को खाटू श्‍याम भेज दिया। पुलिस इस पहलू की छानबीन में जुटी है। रात साढ़े 11 बजे के करीब उसने खुरपी और घास काटने वाला चाकू अपने पास रख लिया और घर की सारी लाइटें बंद कर दीं। रात दो बजे के करीब वह बहू के कमरे में पहुंचा। दरवाजा खुलवाया और जैसे ही बहू सामने पड़ी उसने उस पर चाकू से वार करना शुरू कर दिया। राय सिंह ने बहू पर चाकू से दर्जनों वार किए। इसके बाद उसके मर जाने का इंतजार करता रहा।

रात 2:20 बजे वह सीढ़ियां चढ़कर किरायेदार कृष्‍णा तिवारी के घर पहुंचा। कृष्‍णा ने जैसे ही दरवाजा खोला उसने उस पर भी चाकुओं से हमला कर दिया और मार डाला। 10 मिनट बाद 2:30 बजे उसने कृष्‍णा की पत्‍नी अनामिका के कमरे में जाकर उसकी भी उसी तरह हत्‍या कर दी। कृष्‍णा और अनामिका को मारने के बाद राय सिंह ने उनके दोनों बच्‍चों को भी मार डाला।

दिल दहला देने वाली घटना में पोस्टमार्टम के बाद एक और खुलासा हुआ है। डॉ. दीपक माथुर के अनुसार सबसे अधिक हमला अनामिका तिवारी पर हुआ है। आरोपी ने उस पर 22 वार किए। जबकि अपनी पुत्रवधू सुनीता पर 17 वार किए। इसके साथ सुरभि पर 16 वार किए गए। सबसे कम वार कृष्ण कांत पर हुआ है। उसकी मौत सात वार में ही हो गई।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it